घोटाले के कारण पंजाब नेशनल बैंक को पहले क्वॉर्टर में हुआ 940 करोड़ का नुकसान, दूसरी तिमाही में भी घाटा

2018-08-07_PNBSeocondQuarter.jpg

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने मंगलवार को तिमाही नतीजे जारी किए. अप्रैल-जून 2018 में बैंक को 940 करोड़ रुपए का घाटा हुआ. बैंक को लगातार दूसरी तिमाही में नुकसान हुआ है. पिछली तिमाही (जनवरी-मार्च) में 13,416.19 करोड़ का रिकॉर्ड नुकसान हुआ था. इस साल अप्रैल-जून में कुल आय 15,072 करोड़ रुपए रही. ब्याज से आय 22% बढ़कर 4,692 करोड़ रुपए हो गई. अप्रैल-जून 2017 में यह आंकड़ा 3,855 करोड़ था.

पिछली (जनवरी-मार्च) तिमाही में ग्रॉस एनपीए 18.38% था, जो इस बार 18.36% रहा. नेट एनपीए 11.24% की तुलना में 10.58% रहा. अप्रैल-जून में एनपीए के लिए 4,982 करोड़ रुपए की प्रोविजनिंग की. पिछली तिमाही में यह रकम 16,203 करोड़ रुपए थी. अप्रैल-जून में बैंक ने नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल के जरिए एनपीए खातों से 336 करोड़ रुपए की वसूली की. नतीजों के बाद पीएनबी का शेयर बीएसई और एनएसई पर 85.40 रुपए तक गिर गया. सोमवार को यह बीएसई पर 90.15 और एनएसई पर 90.05 रुपए पर बंद हुआ था.

जनवरी-मार्च तिमाही में पीएनबी को 13,416.19 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ. यह किसी भी भारतीय बैंक का अब तक का सबसे बड़ा तिमाही घाटा है. बैंक की आय भी 13.6% घटकर 12,945 करोड़ रुपए रह गई थी. नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के घोटाले के वजह से पीएनबी की यह हालत हुई.



loading...