ताज़ा खबर

SCO समित: किंगदाओ पहुंचे पीएम मोदी, राष्ट्रपति जिनपिंग से की मुलाकात, दोनों देशों के बीच हुए कई समझौते

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा- अच्छा हिंदू नहीं चाहता अयोध्या में राम मंदिर बने, सुब्रमण्यम स्वामी ने कह दिया नीच आदमी

#MeToo: लपेटे में आए केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर ने प्रिया रमानी के खिलाफ दर्ज कराया मानहानि का केस

#MeToo: लपेटे में आए केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर को इस्तीफा देने का आदेश दे सकती हैं बीजेपी

आज फिर बढ़े डीजल के दाम, पेट्रोल के रेट स्थिर, जानिए- क्या है आपके शहर का आज का भाव

पीएम मोदी ने पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर वित्त मंत्री अरुण जेटली और अन्य वरिष्ठ मंत्रियों संग की बैठक

फ्रांस दौरे पर गईं निर्मला सीतारमण ने रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली की बातचीत, कहा- दसाल्ट ने ही किया था रिलायंस से करार का फैसला

2018-06-09_narendra modi.jpg

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को आज दो दिवसीय शंघाई सहयोग संगठन (SCO) शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए चीन के चिंगदाओ पहुंचे. वहां एससीओ शिखर सम्मेलन से पहले उन्होंने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय वार्ता की. इस द्विपक्षीय वार्ता में दोनों नेताओं ने करीब एक महीने पहले वुहान में हुई पहली अनौपचारिक बैठक में लिए गए निर्णयों के क्रियान्वयन पर चर्चा की. पिछले चार साल में यह दोनों नेताओं की 14वीं मुलाकात है. 

इस दौरान पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मौजूदगी में दोनों देशों के बीच कई समझौतों पर दस्तखत हुए. पहले समझौते में भारतीय राजदूत गौतम बंबावाले और चीनी उप विदेश मंत्री कोंग शौनयू ने हस्ताक्षर किए. इसके बाद दूसरे समझौते में गौतम बंबावाले और चीनी के मंत्री नी यूफेंग ने दस्तखत किए. 

इससे पहले पीएम मोदी ने कहा कि भारत को SCO का पूर्ण सदस्य बनाए जाने के बाद आयोजित पहली बैठक में वो भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने को लेकर रोमांचित हैं. यहां पीएम मोदी ने SCO के सदस्य देशों के साथ प्रतिनिधि स्तरीय वार्ता में भी हिस्सा लिया और SCO के जनरल सेक्रेटरी राशिद अलिमोव से मिले.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ताभ रवीश कुमार ने बताया कि इस बार SCO की बैठक में आतंकवाद के मुद्दे पर ज्या्दा फोकस रहेगा. इस प्ले टफॉर्म का इस्ते माल कर आतंकवाद से लड़ाई मुद्दे पर भी बात होगी. रवीश कुमार ने बताया कि हाल ही में भारत ने पाकिस्ता्न में संपन्न  हुए शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में हिस्सा  लिया था. यह बैठक शंघाई सहयोग संगठन के रीजनल एंटी टेररि‍स्टि स्ट्राक्चार (RATS) के अंतर्गत हुई थी. उन्होंने बताया कि इस बैठक में एक टेक्निकल टीम भेजी गई थी और यह हमारा कर्तव्य  बनता है कि हम बहुपक्षीय बैठकों का हिस्सा बने, भले ही वे कहीं भी संपन्नै हो रही हों.



loading...