मुजफ्फरपुर बालिका गृह केस: पूर्व मंत्री मंजू वर्मा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने छापेमारी की तेज

लोकसभा चुनाव: बिहार में एनडीए ने तय किए उम्मीदवारों के नाम, गिरिराज सिंह की सीट बदली, शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट कटा

लोकसभा चुनाव: बिहार महागठबंधन में हुआ सीटों का बंटवारा, RJD को 20 तो कांग्रेस को मिलीं 9 सीटें, गया सीट से जीतनराम मांझी होंगे उम्मीदवार

लोकसभा चुनाव: बिहार में एनडीए में तय हुआ सीटों का बंटवारा, BJP ने अपनी 6 सीटें छोड़ी

लोकसभा चुनाव: बिहार में मायावती ने महागठबंधन से किया किनारा, सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी BSP

बिहार के गया में प्रेमी जोड़े ने जान देकर चुकाई प्यार की कीमत, पुलिस ने दोषियों को किया गिरफ्तार

मुजफ्फरपुर शेल्टर केस में नागेशवर राव पर अवमानना के आरोप में सुप्रीम कोर्ट ने लगाया 1 लाख का जुर्माना, दिनभर कोर्टरूम के कमरे रहेंगे बैठे

2018-11-02_ManjuVerma.jpg

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड मामले में बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने छापेमारी तेज कर दी है. पुलिस ने मंजू वर्मा के घर समेत कई ठिकानों पर छापेमारी की है. यह कार्रवाई चेरिया बरियारपुर पुलिस द्वारा की जा रही है. हालांकि अभी तक उनका कुछ भी पता नहीं चल सका है. 

आपको बता दें कि गुरुवार को बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में जानकारी दी थी कि उन्हें मंजू वर्मा के बारे में पता नहीं है कि वो कहां हैं? इस पर सुप्रीम कोर्ट ने आश्चर्य जताते हुए कहा था कि राज्य सरकार अपनी ही पूर्व मंत्री को नहीं खोज पा रही है, मामले में सबकुछ ठीक नहीं है.

बिहार सरकार की ओर से पेश वरिष्ठ वकील रंजीत कुमार ने कहा कि मंजू वर्मा की तलाश की जा रही है. मालूम हो कि मंजू वर्मा के घर से भारी मात्रा में गोला-बारूद मिला था. अदालत ने उनकी अग्रिम जमानत भी खारिज कर दी है.

उधर, मुजफ्फरपुर प्रशासन ने मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की चल-अचल संपत्तियों पर कब्जा करने की कार्रवाई तेज की है. प्रशासन ने ब्रजेश की पत्नी समेत उससे जुड़े एनजीओ के सभी 6 सदस्यों के घरों पर नोटिस चिपकाया गया है. 

बताया जा रहा है कि नोटिस में प्रशासन ने पूछा है कि आपकी संपत्तियों को सरकार क्यों न जब्त कर ले? साथ ही प्रशासन ने ब्रजेश ठाकुर की पत्नी समेत सभी लोगों से उनकी संपत्तियों का ब्योरा भी मांगा है और इसके लिए एक हफ्ते ही समय दिया गया है.



loading...