ISI एजेंट निकला फौजी का बेटा, फेसबुक पर लड़कियों ने फंसा कर निकलवाई सेना की अहम जानकारियां

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद नौसेना के ठिकानों पर हमले की साजिश रच रहा है, पाक में दी जा रही है ट्रेनिंग

सीएम मनोहर पर्रिकर ने सर्जिकल स्‍ट्राइक को लेकर कहा- क्या मैं सेना से कहता राहुल गांधी को साथ ले जायें

हिमाचल और दिल्ली-NCR में भारी बारिश, पंजाब- हरियाण में भी बारिश के आसार

पीएम मोदी की रैली में पंडाल गिरने से 24 जख्मी, घायलों को देखने अस्पताल पहुंचे मोदी

महबूबा मुफ्ती ने पार्टी टूटने के डर से बीजेपी को दी धमकी, PDP को तोड़ने की कोशिश की तो कश्मीर में और सलाउद्दीन पैदा होंगे

सैन्य ताकत के मामले में भारत चौथे स्थान पर, पाकिस्तान 17वें स्थान पर, सबसे ताकतवर देश अमेरिका

2018-04-17_arest656.jpg

हरियाणा के रोहतक से एक व्यक्ति को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. IB से मिली जानकारी के बाद रोहतक पुलिस ने गौरव शर्मा नाम के युवक को गिरफ्तार किया. वो सोनीपत का रहने वाला है. हरियाणा पुलिस और सेना की इंटेलिजेंस विंग के अफसर उससे पूछताछ कर रहे हैं. 

पुलिस ने बताया कि गौरव सेना से रिटायर्ड हवलदार का बेटा है और पिछले 4 वर्ष से ISI को भारतीय सेना से जुड़ी गुप्त और संवेदनशील जानकारियां भेज रहा था. पूछताछ में गौरव ने यह भी खुलासा किया कि ह अब तक 18 बार आर्मी में हुई रिक्रूटमेंट से जुड़ी जानकारियां भेज चुका है. वह आईएसआई की 2 महिला एजेंट के संपर्क में था, जो पैसे के दम पर उससे यह जानकारी ले रहीं थीं. गौरव को 3 दिन के लिए रिमांड पर लिया गया है. 

पुलिस पूछताछ में गौरव ने बताया कि वर्षभर पहले अमिता आहलुवालिया और सोनू कौर नाम की लड़कियों से उसकी फेसबुक पर दोस्ती हुई. खुद को आर्मी अफसर बताने पर वे चैटिंग में ज्यादा रुचि लेने लगीं. कई बार लाइव चैट पर उन्‍होंने उसके साथ अंतरगता की हदें पार भी हुईं. ISI की एजेंटों ने उस पर सेना की जानकारियां जुटाने के लिए दवाब बनाना शुरू कर दिया.

जानकारी के मुताबिक , गौरव ने नवंबर 2017 से लड़कियों के कहने पर सेना से जुड़ी कई जानकारी फोटो समेत शेयर कीं. गौरव ने इस बात को कबूल किया कि वो हनी ट्रैप हुआ. उसने बताया कि वो उन महिलाओं के जाल में इस कदर फंस गया था कि उनके कहे मुताबिक ही काम करता था. नवंबर से मार्च के अंत तक वो नासिक, भोपाल और सिकंदराबाद में हुई सेना भर्तियों में पहुंचा था. वहां उसने वीडियो कॉलिंग कर अमिता और सोनू को भर्ती का पूरा प्रोसेस लाइव दिखाया था. गुपचुप खिंची गई तस्वीरें भी उसने उनके साथ शेयर कीं.

पुलिस ने जब गौरव को गिरफ्तार किया तो सबसे पहले उसने अपना मोबाइल जमीन पर पटककर तोड़ दिया. इससे पहले कि वह मोबाइल को पूरी तरह से नष्ट करता, पुलिस ने मोबाइल को अपने कब्जे में ले लिया. अब मोबाइल की स्टोरेज और मेमोरी रिकवर कर डिटेल खंगाली जा रही है.



loading...