PNB घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी को बड़ा झटका, थाईलैंड में गीतांजलि ग्रुप की 13 करोड़ की संपत्ति जब्त

2019-01-04_MehulChoksi.jpg

देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने एक बड़ा झटका दिया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, ईडी ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) के तहत थाईलैंड में मेहुल चोकसी की कंपनी गीतांजलि ग्रुप की एक संपत्ति जब्त की है. बताया जा रहा है कि इस संपत्ति की कीमत 13 करोड़ से ज्यादा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, ईडी द्वारा जब्त की गई फैक्ट्री थाईलैंड की एब्बीक्रेस्ट लिमिटेड के नाम है, जो गीतांजलि ग्रुप की ही कंपनी है.

हाल ही में मेहुल चोकसी का एक और बयान सामने आया था. इस बयान में चोकसी ने अपने स्वास्थ्य का हवाला देते हुए कहा था कि वह फ्लाइट में 41 घंटे का सफर करके भारत नहीं आ सकता. आपको बता दें चोकसी को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित कराने के लिए प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) स्पेशल कोर्ट में प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा दायर याचिका के जवाब में चोकसी की तरफ से अपनी सेहत का हवाला देते हुए यह बात कही गई. चोकसी का यह बयान तब आया था जब कुछ दिन पहले ही इंटरपोल की तरफ से उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया है.

आपको बता दें ईडी ने चोकसी को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने और उसकी संपत्तियों को जब्त करने के लिए याचिका दाखिल की है. चोकसी ने अपने जवाब में ईडी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि जांच एजेंसी ने जानबूझकर कई संपत्तियों का मूल्य कम आंका है. अटैच की गई संपत्तियों का कुल मूल्य 89 से 537 करोड़ के बीच बताया गया है. इससे पहले पिछले दिनों इंटरपोल ने सीबीआई की याचिका पर मेहुल चोकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है.



loading...