ताज़ा खबर

लोकसभा Live: पीएम मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- 70 साल की बीमारियों को 5 साल में दूर करना कठिन था

2019-06-25_PmModiLokSabha.jpg

लोकसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी बात रखते हुए सभी सांसदों को धन्यवाद देते हुए कहा- मैं इस चर्चा को सार्थक बनाने के लिए इसमें भाग लेने वाले सभी सांसदों का हृदय से आभार व्यक्त करता हूं. 

2019 का जनादेश पूरी तरह कसौटी पर कसने के बाद, हर तराजू पर तौलने के बाद, पल पल को जनता ने जांचा और परखा है और उसके आधार पर समझा है और तब जाकर फिर से हमें चुना है. जीत को सरकार के समर्पण के रूप में देखा जाना चाहिए. जनता ने हमारी नीतियों का अनुमोदन किया. कामयाबी के बावजूद हमने मंजिल न छोड़ी. जिसका कोई नहीं, उसके लिए सरकार है. आखिरी छोर पर बैठे हर व्यक्ति के बारे में सोचा."

पीएम मोदी ने कहा, "ये कोई जीत या हार का प्रश्न नहीं है. ये जीवन की उस आस्था का विषय है, जहां कमिटमेंट क्या होता, डेडिकेशन क्या है, जनता के लिए जीना-जूझना-खपना क्या होता है. और जब पांच साल की अविरत तपस्या का संतोष मिलता है तो वो एक अध्यात्म की अनुभूति करता है."

पीएम मोदी ने जवाब देते हुए कहा, "मैं संतोष के साथ कह सकता हूं कि 70 साल से चली आ रही बीमारियों को दूर करने के लिए हमने सही दिशा पकड़ी और काफी कठिनाइयों के बाद भी उसी दिशा में चलते रहे. हम उस मकसद पर चलते रहे और ये देश दूध का दूध पानी का पानी कर सकता है ये सबने देखा. हमने देश आजाद होने के बाद जाने-अनजाने में एक ऐसा कल्चर स्वीकार कर लिया था, जिसमें देश के सामान्य मानवी को हक के लिए जूझना पड़ता है. क्या सामान्य मानवी के हक की चीजें सहज रूप से उसे मिलनी चाहिए या नहीं. हमने मान लिया था कि ये तो ऐसे ही चलता है."

पीएम मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, "हम किसी के योगदान के अस्वीकार नहीं करते. आपकी ऊंचाई आपको मुबारक हो. हमें ये ऊंचाई नहीं चाहिए."



loading...