ओडिशा दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी, अब तक मरने वालों की संख्या 34 हुई

ओडिशा में चक्रवाती तूफान ‘फेनी’ ने मचाया कहर, 3 लोगों की मौत, 175 से 200 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से चल रही हैं हवाएं

चक्रवाती तूफान ‘फेनी’ ने ओडिशा में दी दस्तक, राहत-बचाव कार्य में जुटी टीमें, 200 से अधिक ट्रेनें रदद्

Fani Cyclone: चक्रवाती तूफान ‘फेनी’ की तबाही से बचने के लिए इस तरह रहना होगा सतर्क, हाई अलर्ट पर सेना और NDRF

अगले कुछ घंटो में बेहद तीव्र होने वाला है चक्रवाती तूफान ‘फेनी’, मौसम विभाग ने इन राज्यों में जारी किया Yellow अलर्ट

ओडिशा के सुंदरगढ़ में बोले पीएम मोदी, देश में फिर बनने जा रही है पूर्ण बहुमत की सरकार

ओडिशा के कालाहांडी में पीएम मोदी ने कहा- चुनाव आते ही कांग्रेस गरीबी की माला जपने लगती है

2019-05-06_PmModiOdisha.jpg

ओडिशा में आए चक्रवाती तूफान ‘फैनी’ से मरने वालों की संख्या अब तक 34 पहुंच गई है. तूफान के चलते राज्‍य में बड़े पैमाने पर बर्बादी हुई है. सैकड़ों लोगों को बिना पानी और बिजली के रहना पड़ रहा है. राज्‍य में हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को ओडिशा पहुंच गए. एयरपोर्ट पर मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक ने उनका स्‍वागत किया.

एक अधिकारी ने बताया कि 11 जिलों के 14,835 गांवों में लगभग 1.08 करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं. उन्होंने कहा कि आपदा से 24 घंटे पहले 13.41 लाख से अधिक लोगों को निकाला गया था. मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक ने आपदा प्रभावित लोगों के लिए राहत पैकेज की घोषणा करते हुए कहा कि पुरी और बेहद गंभीर रूप से प्रभावित खुर्दा के कुछ हिस्सों में सभी परिवारों को 50 किलोग्राम चावल, 2,000 रुपये नकद और पॉलीथीन शीट मिलेंगी अगर वे खाद्य सुरक्षा कानून (एफएसए) के तहत आते होंगे.

खुर्दा जिले के शेष हिस्सों के लिए जो गंभीर रूप से प्रभावित हुए एफएसए परिवारों को एक महीने का चावल, 1,000 रुपये नकद एवं पॉलीथीन शीट मिलेगी. पटनायक ने कहा कि कटक, केंद्रपाड़ा एवं जगतसिंहपुर के मध्यम रूपसे प्रभावित जिलों के लोगों को एक महीने का चावल का कोटा और 500 रुपये नकद दिया जाएगा.

ओडिशा के मुख्य सचिव ए पी पाढ़ी के मुताबिक 34 में से 21 मौतें पुरी में हुईं, जहां तूफान शुक्रवार को पहुंचा था. पूर्व तटीय रेलवे ने हावड़ा-चेन्नई मार्ग पर रविवार को आंशिक रूप से परिचालन शुरू कर दिया है. चक्रवात के कारण पूरे तटीय ओडिशा के 11 जिले बालेश्वर, भद्रक, कटक, ढेंकानाल, गंजाम, जगतसिंहपुर, जाजपुर, केंद्रपाड़ा, खुर्दा, मयूरभंज और पुरी प्रभावित हुए.



loading...