पीएम मोदी ने वृंदावन में अक्षय पात्र के बच्चों को परोसा भोजन, कहा- विकसित देश के लिए शक्तिशाली और पोषित बचपन का होना जरूरी

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में खूनी संघर्ष में बदला जमीनी विवाद, 9 की मौत, दर्जन भर से अधिक घायल

पूर्व सपा नेता अतीक अहमद के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी, भारी पुलिसबल तैनात

अखिलेश सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति पर ED ने कसा शिकंजा, खनन घोटाला मामले में जेल में होगी पूछताछ

यूपी: साक्षी-अजितेश की शादी को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बताया वैध, पुलिस को सुरक्षा देने का दिया आदेश

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में जज ने मांगा 6 महीने का वक्त, SC ने कहा- निर्णय देने के बाद ही रिटायर किया जाए

इलाहाबाद हाईकोर्ट से अगवा किए गए प्रेमीजोड़े को यूपी पुलिस ने बदमाशों की गिरफ्त से छुड़ाया

2019-02-11_PMinVrandavan.jpg

वृंदावन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अक्षय पात्र फाउंडेशन के कार्यक्रम में गरीब बच्चों को भोजन परोसा. यह कार्यक्रम फाउंडेशन द्वारा गरीब बच्चों को 300 करोड़वीं थाली परोसे जाने के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया. कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने स्वच्छता और स्वस्थ बचपन पर जोर दिया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने बचपन के आसपास मजबूत सुरक्षा घेरा बनाने का प्रयास किया है. इस सुरक्षा के तीन पहलू हैं, खानपान, टीकाकरण और स्वच्छता. अब बदली परिस्थितियों में पोषकता के साथ, पर्याप्त और अच्छी गुणवत्ता वाला भोजन बच्चों को मिले, ये सुनिश्चित किया जा रहा है. 

मोदी ने कहा कि स्वास्थ्य का सीधा संबंध पोषण से है, यदि हम पोषण के अभियान को हर माता तक पहुंचाने में सफल हुए तो अनेक जीवन बच जाएंगे. इसी सोच के साथ हमारी सरकार ने पिछले वर्ष राजस्थान के झूंझनू से देशभर में राष्ट्रीय पोषण मिशन की शुरुआत की थी.

प्रधानमंत्री ने बताया कि हमने टीकाकरण अभियान को मिशन मोड में चलाने का फैसला किया. मिशन इंद्रधनुष से देश में लगभग 3 करोड़ 40 लाख बच्चों और 90 लाख गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया गया है. जिस गति से काम हुआ है, उससे तय है कि सम्पूर्ण टीकाकरण का हमारा लक्ष्य अब दूर नहीं है. 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब बच्चों के स्वास्थ्य की बात होती थी तो मां के दुख तकलीफ को नजर अंदाज कर दिया जाता था, लेकिन अब इस स्थिति को बदलने का प्रयास किया जा रहा है. गौ माता के दूध का कर्ज इस देश के लोग नहीं चुका पाएंगे. गाय हमारी संस्कृति और परंपरा का महत्वपूर्ण हिस्सा रही है. 

नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी सरकार द्वारा सुनिश्चित किया जा रहा है कि पोषकता के साथ, अच्छी गुणवत्ता वाला भोजन बच्चों को मिले. जैसे मजबूत इमारत के लिए नींव का ठोस होना जरूरी है. वैसे ही विकसित देश के लिए शक्तिशाली और पोषित बचपन का होना जरूरी है. मोदी ने कहा कि इस बार प्रयागराज कुम्भ के मेले ने देश को स्वच्छता का संदेश देने में सफलता पाई है. आम तौर पर कुम्भ में नागा बाबाओं की चर्चा होती है, पहली बार न्यूयॉर्क टाइम्स ने कुम्भ की स्वच्छता को लेकर रिपोर्ट छापी है. 

पीएम मोदी ने कहा कि गंदगी बच्चों के लिए घातक सिद्ध होती है. पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों को डायरिया से सबसे ज्यादा खतरा होता है. स्वच्छ भारत अभियान के माध्यम से हमने इस बीमारी को खत्म करने का बीड़ा उठाया है. साफ सफाई की ये ताकत है जो गरीब को बिना किसी खर्च के जीवनदान दे रहा है.



loading...