राजस्थान: जयपुर में पीएम मोदी ने कहा- सेना और उसकी क्षमता पर राजनितिक विरोधियों ने उठाए सवाल

2018-07-07_pmmodijaipur.jpg

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजस्थान की राजधानी जयपुर पहुंच गए हैं. यहां उन्होंने 2,100 करोड़ रुपए की 13 शहरी आधारभूत परियोजनाओं की नींव रखी. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और राज्यपाल कल्याण सिंह ने एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया. लाभार्थियों से बात करने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि लोगों को राजस्थान आकर पिछले पांच सालों में हुए राज्य के विकास की असली तस्वीर देखनी चाहिए. राजस्थान में शक्ति और भक्ति दोनों का संगम है. प्रकृति की चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों से लोहा लेते हुए, अन्न उत्पादन हो या फिर राष्ट्र रक्षा की चुनौती, राजस्थान सदियों से देश को प्रेरणा देता रहा है. राजस्थान अपनी परंपरा के अनुरूप, अपनी संस्कृति के अनुरूप, किस प्रकार स्वागत करता है, कैसे सत्कार और अपनापन देता है, इसकी साफ झलक मुझे मेरे सामने दिख रही है.

पीएम मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि एक समय था जब राजस्थान में सिर्फ नेताओं के नाम पर पत्थर जड़ने की होड़ मची रहती थी. वर्तमान की राजस्थान सरकार में विकास कार्य ना ही अटकते हैं, ना ही लटकते हैं और ना ही भटकते हैं. चाहे केंद्र की सरकार हो या राज्य की हमारा एक मात्र एजेंडा रहा है, विकास, विकास और विकास. देश के प्रत्येक व्यक्ति के जीवन को अधिक से अधिक सरल, सुरक्षित और सुगम बनाने का काम एक के बाद एक योजनाओं के द्वारा हम करते जा रहें है. हमारे कामकाज के तरीके में चीजें ना अटकती हैं, ना लटकती हैं और ना ही भटकती हैं.

रैली को संबोधित करते हुए किसानों का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा- हमारी सरकार 2022 तक किसानों की आय को दोगुनी करने के लक्ष्य के साथ कार्य कर रही है. अब तक देश में 14 करोड़ 50 लाख से ज्यादा सॉयल हेल्थ कार्ड किसानों को दिए जा चुके हैं और राजस्थान में लगभग 90 लाख किसानों को सॉयल हेल्थ कार्ड प्राप्त हो चुके हैं. हमनें फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य को लागत से डेढ़ गुना करने का अपना वादा पूरा करने का काम किया है. देश के प्रत्येक व्यक्ति के जीवन को अधिक से अधिक सरल, स्वस्थ, सुरक्षित और सुगम बनाने का काम हम कर रहे हैं.

सरकारी योजनाओं की बात करते हुए पीएम ने कहा, राजस्थान में स्वच्छ भारत मिशन के तहत लगभग 80 लाख शौचालयों का निर्माण किया गया है. 2.5 करोड़ से अधिक जनधन खाते खोले गए हैं. 6 लाख से अधिक गरीबों को घर दिए गए हैं और उज्जवला योजना के तहत 33 लाख से अधिक माताओं और बहनों को मुफ्त गैस कनेक्शन दिए गए है. राजस्थान का विकास हो, किसानों को पानी मिले, हर व्यक्ति को पेयजल उपलब्ध हो, इसके लिए केन्द्र सरकार राज्य सरकार के साथ मिलकर पूरी संवेदनशीलता से काम करेगी.

राजनीतिक विरोधियों पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा- हमारे राजनीतिक विरोधियों ने देश की सेना और उनकी क्षमताओं पर सवाल उठाने का काम किया है, ऐसा देश में पहले कभी नहीं हुआ. देश की जनता और राजस्थान के लोग ऐसी राजनीति करने वालों को कभी माफ नहीं करेंगे. जिन लोगों को परिवार और वंशवाद की राजनीति करनी है वो करें लेकिन देश की रक्षा और स्वाभिमान को शिखर पर ले जाने का हमारे निश्चय अटूट है और हमारी नीतियां साफ हैं.

पीएम मोदी से पहले मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि हमने माननीय प्रधानमंत्री जी की बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना से प्रेरणा लेकर राजश्री योजना की शुरुआत की. इस योजना में जब बच्ची पैदा होती है तो साथ ही साथ अपने हाथ में पैसा लेकर आती है, साक्षात लक्ष्मी के रूप में. राजस्थान के हर क्षेत्र में विकास हो रहा है पिछली कांग्रेस सरकार पर हमला करते हुए राजे ने कहा कि कांग्रेस ने गरीबी हटाने का नारा तो दिया लेकिन 70 वर्षों में इसके लिए कोई काम नहीं किया. कांग्रेस ने सत्ता पाने के लिए गरीबों को केवल जरिया बनाया.

पीएम मोदी के इस दौरे को विधानसभा चुनाव से पहले मतदाताओं को लुभाने की एक कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है. आपको बता दें कि इसी साल राजस्थान में विधानसभा चुनाव होने हैं. अपने दौरे के दौरान पीएम केंद्र ने सरकार की 7 और राज्य सरकार की 5 योजनाओं के लाभार्थियों से मुलाकात की. इन योजनाओं में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना और अन्य शामिल हैं. जिन महत्वपूर्ण परियोजनाओं की पीएम नींव रखेंगे उनमें पुराने उदयपुर के लिए एकीकृत संरचना पैकेज, अजमेर के लिए एलिवेटेड रोड परियोजना, अजमेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, हनुमानगढ़, सीकर एवं माउंट आबू में जलापूर्ति एवं सीवरेज परियोजना, धौलपुर, नागौर, अलवर एवं जोधपुर में एसटीपी का उन्नयन परियोजना, बूंदी, अजमेर एवं बीकानेर जिले में प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के तहत परियोजना, कोटा में दशहरा मैदान चरण-दो परियोजनाएं शामिल हैं.



loading...