अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से PM मोदी शून्य में, शाम 7.30 बजे पार्थिव शरीर को उनके घर पर ले जाया जाएगा

2018-08-16_atalbiharivajpayeepmmoditweet.jpg

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में पिछले 9 हफ्ते से भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार को निधन हो गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक जताया. उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है. हम सभी के श्रद्धेय अटल जी हमारे बीच नहीं रहे. अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था. उनका जाना, एक युग का अंत है.'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि वो हमें कहकर गए हैं- 'मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं, ज़िन्दगी सिलसिला, आज कल की नहीं. मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं, लौटकर आऊँगा, कूच से क्यों डरूं?' 

उन्होंने लिखा है कि अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा.  ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे. ओम शांति !

आपको बता दें कि बुधवार (15 अगस्त) की रात को ही पूर्व पीएम की तबियत ज्या.दा बिगड़ने की खबर मिलने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं अन्यत केंद्रीय मंत्री और नेता उनका हालचाल जानने के लिए एम्स  पहुंचे थे. उनके अलावा एम्स  के बाहर वाजपेयी के समर्थकों का जमावड़ा लगा रहा. गुर्दा नली में संक्रमण, छाती में जकड़न, मूत्रनली में संक्रमण की शिकायत के बाद अटल बिहारी वाजपेयी को बीते 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था. 93 वर्षीय वाजपेयी मधुमेह के शिकार हैं और उनका एक ही गुर्दा काम करता है. शाम 7.30 बजे पार्थिव शरीर को उनके घर पर ले जाया जाएगा. अटल जी के निधन के बाद पूरे देश में शोक की लहर है. 



loading...