बीके हरिप्रसाद पर पीएम मोदी की टिप्पणी राज्यसभा की कार्यवाही से हटाई गई, कांग्रेस ने जताई थी आपत्ति

पीएम नरेंद्र मोदी ने ब्लॉग लिखकर कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- परिवारवाद और वंशवाद ने देश को कमजोर कर दिया

मनी लॉन्ड्रिंग केस: कोर्ट में ED ने कहा- जांच में सहयोग नहीं कर रहे वाड्रा, हिरासत में लेकर पूछताछ की जरूरत

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा- 'मैं भी चौकीदार' अभियान से उन्हें परेशानी है जिनकी पार्टी और संपत्ति संकट में है

लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस ने जारी 56 उम्मीदवारों की पांचवीं लिस्ट, गाजियाबाद से डॉली शर्मा होंगी उम्मीदवार

PNB Fraud Case: भगोड़े नीरव मोदी के खिलाफ लंदन की कोर्ट ने जारी किया अरेस्ट वारंट, किसी भी वक्त हो सकती है गिरफ्तारी

Kartarpur Corridor: पाकिस्तान का दोहरा चरित्र आया सामने, गुरूद्वारे की जमीन पर किया कब्जा, भारत ने जताया विरोध

2018-08-10_PMModiBKSingh.jpeg

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा उपसभापति की चुनाव प्रक्रिया के बाद अपने भाषण में कांग्रेस उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद को लेकर टिप्पणी की थी. कांग्रेस ने इस पर आपत्ति जताई थी. इसके बाद मोदी के बयान के इस हिस्से को आपत्तिजनक मानते हुए सदन की कार्यवाही से विलोपित कर दिया गया. संसद में ऐसे मौके कम ही आए जब किसी प्रधानमंत्री के भाषण के हिस्से को सदन की कार्यवाही से हटाया गया. 

एनडीए उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह को जीत की बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा था कि यह दो हरि के बीच में चुनाव था. अब सदन पर ‘हरि-कृपा’ बनी रहेगी. मोदी ने इसके बाद बीके हरिप्रसाद के नाम का जिक्र कर एक बयान दिया था. उपसभापति चुनाव में हरिवंश के समर्थन में 125 और हरिप्रसाद के समर्थन में 105 वोट डाले गए. यूपीए के पास 47 राज्यसभा सदस्य हैं. उसे 62 और सांसदों के समर्थन के साथ कुल 109 की संख्या जुटा लेने का भरोसा था.



loading...