रूस यात्रा के दूसरे दिन जापान के पीएम शिंजो आबे से मिले PM मोदी, मलयेशियाई प्रधानमंत्री से नाइक के प्रत्यर्पण पर हुई बात

जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण पर पीएम मोदी से नहीं हुई बातचीत: मलयेशिया प्रधानमंत्री

PM मोदी के अमेरिकी दौरे से पहले ट्रंप ने कहा- मैं भारत-पाक के प्रधानमंत्रियों के साथ करूंगा बैठक

प्रधानमंत्री मोदी के ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में शामिल होंगे डोनाल्ड ट्रंप, व्हाइट हाउस ने की पुष्टि

इमरान खान की पार्टी के नेता भारत सरकार से मांगी शरण, कहा- पाक में अल्पसंख्यक सुरक्षित नहीं हैं

रूस के उप प्रधानमंत्री ने कहा- भारत को 2021 तक मिल जाएगी एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली की पहली खेप

रूस में पीएम मोदी ने कहा- 2024 तक भारत को 5 ट्रिलियन की इकोनॉमी बनाने में जी जान से जुटे हैं

2019-09-05_Modi.jpg

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को रूस के व्लादिवोस्तोक शहर में अपने जापानी समकक्ष शिंजो आबे से मुलाकात की है. प्रधानमंत्री मोदी दो दिन के रूस के दौरे पर हैं. आबे के अलावा उन्होंने मंगोलिया के राष्ट्रपति खालटमागीन बटुलगाइन और मलयेशिया के प्रधानमंत्री डॉक्टर महाथीर मोहम्मद से मुलाकात की. प्रधानमंत्री ने आबे से रक्षा और अर्थव्यवस्था सहित कई मुद्दों पर बातचीत की.

प्रधानमंत्री मोदी ऐसे पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने रशियन फार ईस्ट रीजन का दौरा किया है. इस बैठक से पहले प्रधानमंत्री मोदी और आबे के बीच जापान के ओसाका में हुए जी-20 सम्मेलन के बाद बैठक हुई थी और फ्रांस के बिआरित्ज में जी-7 सम्मेलन के इतर भी मुलाकात हुई थी. प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर कहा, "मजबूत द्विपक्षीय संबंधों के लिए निरंतर जुड़ाव. प्रधानमंत्री शिंजो आबे और नरेंद्र मोदी व्लादिवोस्तोक में मिले."  

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर कहा, "एक वैश्विक साझेदारी द्विपक्षीय संबंधों द्वारा मजबूत हो रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ व्लादिवोस्तोक में 5 वें ईईएफ के बीच मुलाकात की. दोनों ने आर्थिक, रक्षा और सुरक्षा, स्टार्ट-अप और 5जी क्षेत्रों में बहुआयामी संबंधों पर गहन चर्चा की और क्षेत्रीय स्थिति पर विचारों का आदान-प्रदान किया.

प्रधानमंत्री मोदी ने मलयेशिया के प्रधानमंत्री और मंगोलिया के राष्ट्रपति के साथ भी द्विपक्षीय वार्ता की. इस दौरान उन्होंने विवादित इस्लामिक स्कॉलर जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण का भी मुद्दा उठाया. मोदी बुधवार को 20 वें भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन और पूर्वी आर्थिक मंच (ईईएफ) की पांचवीं बैठक में भाग लेने के लिए रूस पहुंचे. उनके आगमन पर उन्हें व्लादिवोस्तोक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया.



loading...