मोदी-शी बैठक: भारत, चीन के बीच संयुक्त आर्थिक अफगान परियोजना पर बनी सहमति

शी जिनपिंग से कई अहम मुद्दों पर बातचीत के बाद स्वदेश रवाना हुए PM मोदी

2018-04-28_modixi54.jpg

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चीन दौरे का आज दूसरा दिन है. वह इस समय चीन के वुहान शहर में हैं. इस दौरान उन्होंने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ ईस्ट लेक के पास वॉक की और साथ में नौका विहार किया. आपको बता दें कि वुहान चीन का एक प्रसिद्ध शहर है, यहां की यागत्से नदी का चयन काफी सोच-समझ कर किया गया है. मोदी कभी भी चीन के मध्य में नहीं गए थे इसलिए उन्हें वुहान शहर में आमंत्रित किया गया है. 

जानकारी के मुताबिक , भारत और चीन अफगानिस्तान में ज्वाइंट इकोनॉमिक प्रोजेक्ट वेंचर पर काम कर सकता है. इस पर दोनों नेताओं में सहमती बनी है. वहीं, आतंकवाद पर भी लगाम कसने पर दोनों मिलकर काम करेंगे.

MEA ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय महत्व के द्विपक्षीय संबंधों पर कोई समझौता नहीं हुआ है, बस चर्चा हुई है. दोनों नेताओं ने आतंकवाद की आलोचना की है. दोनों ही देश पीपल-टू-पीपल संबंधों को मजबूत बनाने की कोशिश करेंगे. MEA ने कहा कि भारत और चीन एक-दूसरे को फिल्में भी दिखाएंगे. 

वहीं, MEA ने कहा कि मोदी और जिनपिंग में 4 दौर की बातचीत हुई. भारत और चीन शांतिपूर्ण रिश्तों पर जोर देंगे. सीमा पर शांति के लिए दोनों ही देश प्रतिबद्ध हैं. दोनों देशों के बीच सकारात्मक बातचीत हुई है. भारत के विदेश सचिव ने कहा कि दोनों देशों के नेताओं के बीच हुई बातचीत से रिश्तों में मजबूती आएगी.

2018-04-28_pm58.jpg

चीन के 2 दिवसीय दौरे से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं. आज दौरे के दूसरे दिन पीएम मोदी ने चीन के वुहान शहर में राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ ईस्ट लेक के पास वॉक की. यहां दोनों नेताओं ने बॉर्डर समेत कई मुद्दों पर चर्चा भी की. आपको बता दें कि वुहान चीन का एक प्रसिद्ध शहर है, यहां की यागत्से नदी का चयन काफी सोच-समझ कर किया गया है. मोदी कभी भी चीन के मध्य में नहीं गए थे इसलिए उन्हें वुहान शहर में आमंत्रित किया गया है. 

जानकारी के मुताबिक , भारत और चीन अफगानिस्तान में ज्वाइंट इकोनॉमिक प्रोजेक्ट वेंचर पर काम कर सकता है. इस पर दोनों नेताओं में सहमती बनी है. वहीं, आतंकवाद पर भी लगाम कसने पर दोनों मिलकर काम करेंगे.

MEA ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय महत्व के द्विपक्षीय संबंधों पर कोई समझौता नहीं हुआ है, बस चर्चा हुई है. दोनों नेताओं ने आतंकवाद की आलोचना की है. दोनों ही देश पीपल-टू-पीपल संबंधों को मजबूत बनाने की कोशिश करेंगे. MEA ने कहा कि भारत और चीन एक-दूसरे को फिल्में भी दिखाएंगे. 

वहीं, MEA ने कहा कि मोदी और जिनपिंग में 4 दौर की बातचीत हुई. भारत और चीन शांतिपूर्ण रिश्तों पर जोर देंगे. सीमा पर शांति के लिए दोनों ही देश प्रतिबद्ध हैं. दोनों देशों के बीच सकारात्मक बातचीत हुई है. 

वहीं, भारत के विदेश सचिव ने कहा कि दोनों देशों के नेताओं के बीच हुई बातचीत से रिश्तों में मजबूती आएगी. ईस्ट लेक के किनारे दोनों नेताओं ने चाय पर चर्चा की. पीएम मोदी ने चीन के राष्ट्रपति के साथ ईस्ट लेक में नौका विहार किया. पीएम मोदी और शी जिनपिंग ईस्ट लेक के पास साथ टहले और उन्होंने आपस में बात की.
 



loading...