मुंबई आग हादसा: ज्यूडिशियल कमीशन गठन की मांग को लेकर पूर्व पुलिस कमिश्नर ने दायर की याचिका

मुम्बई: पनवेल में भारी बारिश की वजह से नदी में जा गिरी कार, कई घंटों पानी में फंसा रहा परिवार

महाराष्ट्र: सिनेमाहॉल या मल्टीप्लेक्स के अंदर दर्शक अब बाहर से ले जा सकेंगे खाने-पीने का सामान

4 दिन से भारी बारिश से मुंबई में हाहाकार, राजधानी ट्रेन और उड़ानें रद्द

भारी बारिश से मायानगरी का हाल बेहाल, ट्रेनें और यातायात बुरी तरह प्रभावित, स्कूल-कॉलेज बंद

भारी बारिश से मुंबई-ठाणे में 7 लोगों की मौत, 15 राज्यों में बारिश का अनुमान, राजस्थान में तापमान के पार

महाराष्ट्र: नागपुर में भारी बारिश की वजह से विधानसभा की बिजली गुल, मोमबत्ती जलाकर बैठे विधायक, कार्यवाही स्थगित

2018-01-09_pill-field-mumbai-fire.jpg

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर जूलियो रिबेरो ने बॉम्बे हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की है। याचिका में उन्होंने मुंबई के कमला मिल कंपाउंड में हुए हमले की जांच के लिए ज्यूडिशियल कमीशन के गठन की मांग की है।

गौरतलब है कि रिपोर्ट में बताया गया था कि आग पहले मोजो रेस्तरां में लगी और फिर बाद में उससे लगे वन एबॉव पब तक पहुंच गई। वहीं, प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि आग के समय मोजो के रेस्तरां में हुक्का परोसा गया था। जिसके बाद यह आग लग गई। जबकि रेस्तरां में शराब और हुक्का परोसने की इजाजत नहीं थी। इसके बावजूद भी यह धंधा अवैध रूप से चलाया जा रहा था। 

इस मामले में पुलिस ने वन एबव पब के दो मैनेजरों को गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तार आरोपियों का नाम केविन बावा और लिस्बन लोपेज था। इससे पहले पुलिस ने पब मालिकों को कथित रूप से पनाह देने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया था। दोनो प्रबंधकों को भोईवाड़ा कोर्ट में पेश किया गया था।

बता दें कि 29 दिसंबर को मुंबई के कमला मिल कंपाउंड स्थित 1-अबव रेस्तरां, लंडन टैक्सी बार और मोजो पब में देर रात भीषण आग लग जाने से 15 लोगों की मौत हो गई और 16 लोग घायल हो गए थे।



loading...