महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, कर्नाटक चुनाव होते ही एक साथ बढ़ाए गए इतने दाम

2018-05-14_petrol-price-hiked.jpg

पेट्रोल-डीजल के दामों में 19 दिन बाद बदलाव किया गया है। दिल्ली में पेट्रोल 17 पैसे वहीं डीजल 21 पैसे महंगा हुआ है। कोलकाता और मुंबई समेत बाकी शहरों में भी पेट्रोल के दाम बढ़े हैं। 24 अप्रैल के बाद तेल कंपनियों ने पहली बार रेट में बदलाव किया है। पहले से ही आशंका बनी हुई थी कि कर्नाटक चुनाव होते ही ऐसा होगा। 12 मई को चुनाव हो चुके हैं और इसके एक दिन बाद ही तेल के दाम बढ़ गए हैं।

 पेट्रोल और डीजल के दाम 24 अप्रैल को 13 पैसे बढ़ाए गए थे। सूत्रों के मुताबिक अंतर्राष्ट्रीय बाजार में 78.84 डॉलर प्रति बैरल के आधार पर ये दरें निर्धारित की गई थीं, जो बढ़कर 82.98 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंची गईं।  इस दौरान इंटरनेशनल मार्केट में डीजल भी 84.68 डॉलर प्रति बैरल से बढ़कर 88.63 डॉलर प्रति बैरल पहुंच गया।

डॉलर के मुकाबले रुपया 66.62 के स्तर फिसलकर 67 पर आ गया जिससे इंपोर्ट महंगा हुआ। बावजूद इसके भारत में तेल के दामों में कोई बदलाव नहीं किया गया।

शहर

पेट्रोल (रु./लीटर)

बढ़ोतरी

डीजल (रु./लीटर)

बढ़ोतरी

दिल्ली

74.80 (14मई)

74.63 (24अप्रैल-13मई)

17 पैसे

66.14 (14मई)

65.93 (24अप्रैल-13मई)

21 पैसे

कोलकाता

77.50 (14मई)

77.32 (24अप्रैल-13मई)

18 पैसे

68.68 (14मई)

68.63 (24अप्रैल-13मई)

5 पैसे

मुंबई

82.65 (14मई)

82.48 (24अप्रैल-13मई)

17 पैसे

70.43 (14 मई)

70.20 (24अप्रैल-13मई)

23 पैसे

चेन्नई

77.61 (14मई)

77.43 (24अप्रैल-13मई)

18 पैसे

69.79 (14 मई)

69.56 (24अप्रैल-13मई)

21 पैसे

बेंगलुरु

76.01 (14मई)

75.82 (24अप्रैल-13मई)

19 पैसे

67.27 (14 मई)

67.05 (24अप्रैल-13मई)

22 पैसे

अनुमान है कि तेल मार्केटिंग कंपनियों को इस दौरान 500 करोड़ रुपए का घाटा उठाना पड़ा है। क्रूड महंगा होने और रुपए में गिरावट के बावजूद कंपनियों ने 19 दिन तक दाम स्थिर रखे। ऐसे में अब आशंका है कि नुकसान की भरपाई करने के लिए लगातार बढ़ोतरी की जाएगी।

 



loading...