पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों में लग रही आग से कब मिलेगी राहत, दिल्ली में 82.72 रुपए प्रति लीटर पेट्रोल

2018-09-24_PetrolDieselRate.jpg

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी जारी है. सोमवार को पेट्रोल ने नए रिकॉर्ड बनाए. मुंबई में पेट्रोल 90 रुपए के पार चला गया. सोमवार को पेट्रोल के दाम में 11 पैसे की बढ़ोतरी के बाद मुंबई में पेट्रोल 90.08 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है. वहीं दिल्ली में पेट्रोल 82.72 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है. वहीं दिल्लीा में डीजल के दाम में 5 पैसे की बढ़ोतरी दर्ज की गई. दिल्लीा में डीजल 74.02 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है. मुंबई में डीजल के दामों में 6 पैसे की बढ़ोतरी दर्ज की गई. यहां डीजल 78.58 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है. डीजल के दाम दो दिन से स्थिर थे, लेकिन रविवार को इसमें एक बार फिर वृद्धि देखने को मिली. दिल्ली में पेट्रोल की कीमत में जहां 12 पैस की वृद्धि हुई, वहीं डीजल की कीमत में 10 पैसे की वृद्धि हुई. मुंबई में 17 पैसे प्रतिलीटर का इजाफा हुआ. वहीं डीजल के दाम में 11 पैसे की वृद्धि हुई. रविवार को मुंबई में पेट्रोल 89.97 रुपये प्रतिलीटर मिल रहा था. वहां डीजल का दाम 78.53 रुपये प्रतिलीटर बिका.

इससे पहले दिल्ली में पेट्रोल की कीमत में 12 पैस की वृद्धि हुई, वहीं मुंबई में 11 पैसे प्रतिलीटर का इजाफा हुआ था. दिल्ली में शनिवार को पेट्रोल की कीमत 82.44 रुपये प्रतिलीटर था तो डीजल की कीमत 73.89 रुपये प्रति लीटर था. वहीं, मुंबई में पेट्रोल का दाम 89.80 रुपये प्रतिलीटर पहुंच गया था और डीजल का दाम 78.42 रुपये प्रतिलीटर बना हुआ था.

शुक्रवार को मुंबई में पेट्रोल की कीमतों में 9 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी के साथ पेट्रोल के दाम 89.69 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गए थे. गुरुवार को मुंबई में पेट्रोल की कीमत 89.60 रुपए प्रति लीटर था. दिल्लीच में शुक्रवार को पेट्रोल के दामों में 10 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गई थी. इससे दिल्लीर में पेट्रोल 82.32 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया था. पिछले एक महीने में कच्चे तेल की कीमतों में जबरदस्त तेजी देखने को मिली है. कीमतों में 7 डॉलर प्रति बैरल की तेजी आ चुकी है. इसकी वजह से तेल की कीमतों में उछाल आया है.

आपको बता दें कि रोजाना तेल की कीमतों में थोड़ा-थोड़ा इजाफा हो रहा है. जनता सरकार से कीमतों पर लगाम लगाने की गुजारिश कर रही है, लेकिन सरकार की तरफ से इस पर राहत देने के कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं. दरअसल, तेल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के पीछे सबसे बड़ा कारण डॉलर के मुकाबले रुपये का गिरना है. चूंकि रुपये में लगातार गिरावट आ रही है, इसकी वजह से तेल कंपनियां भी लगातार कीमतों में बदलाव कर रही हैं. इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि तेल कंपनियों को कीमतों का भुगतान डॉलर में करना पड़ता है, जिसकी वजह से उन्हें अपना मार्जिन पूरा करने के लिए तेल की कीमतों में इजाफा करना पड़ रहा है.



loading...