विडियो: मध्यप्रदेश के मडियादो में 'शराब ठेके' के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग

भय्यू महाराज ने ब्लैकमेलिंग से परेशान होकर की थी आत्महत्या, 3 लोग गिरफ्तार

कर्नाटक के बाद अब मध्यप्रदेश में कांग्रेस हुई सतर्क, बीजेपी नेता ने कहा- जब तक मंत्रियों के बंगले पुतेंगे कांग्रेस सरकार गिर जाएगी

मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष बने एनपी प्रजापति, बीजेपी के गोपाल भार्गव बने नेता प्रतिपक्ष

मध्यप्रदेश: पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अन्य नेताओं संग मंत्रालय के बाहर गाया ‘वंदे मातरम्’

मध्यप्रदेश: ‘वंदे मातरम’ पर मचे हंगामे को लेकर कमलनाथ सरकार ने लिया यूटर्न, अब कर्मचारियों के साथ आम नागरिक भी होंगे शामिल

मध्‍यप्रदेश में ‘वंदे मातरम’ पर रार, शिवराज सिंह ने सरकार पर साधा निशाना, CM कमलनाथ ने रोक पर दी सफाई

2017-04-01_people-on-the-street.jpg

मध्य प्रदेश के जनपद दमोह के हटा तहसील के कस्बा बस्ती मडियादो में महिलाओं और पुरुषों ने किया प्रदर्शन. इन लोगों की मांग है जो दारू के ठेके गाँव के अंदर हैं उन्हें तुरंत बंद किया जाए या गाँव से बहार कर दिया जाए. गाँव वालों ने एक आन्दोलन के रूप में इस मुहीम को शुरू किया है और इसी बाबत थाने में अपनी शिकायत दर्ज कराई. गाँव वालों का कहना सारा दिन इन ठेकों पर दारुखोर बैठे रहते हैं जो गाँव की महिलाओं और लड़कियों पर भद्दे कमेन्ट करते हैं और उनसे अभद्र व्यवहार करते हैं.

ज्ञापन में कहा गया है कि अप्रैल माह से यदि शराब दुकान गांव के बाहर संचालित नहीं की गई तो अभी शांत तरीके से होने वाला प्रदर्शन उग्र हो जाएगा.

बता दें कि शराब दुकान शासन द्वारा स्वीकृत है जोकि विगत कई वर्षों से गांव के बीच पटेली मुहल्ला में चलाई जा रही थी. गांव के बीच में शराब ठेका होने से यंहा रोज शराबियों का आतंक बढ़ता है, महफ़िलें सजती हैं और आये दिन दंगा-फसाद होता है. जिसे आने-जाने वाले सभी लोगों को परेशानी होती है. ज्ञापन में लोगों ने शासन और न्यायालय के आदेश का हवाला भी दिया है. जिसमे सभी प्रकार की शराब की दुकाने गांव के बाहर खोलने के नियम आदेश ठेकेदारों को दिये गए हैं.



loading...