विडियो: मध्यप्रदेश के मडियादो में 'शराब ठेके' के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग

मध्यप्रदेश: कांग्रेस के विधायक सुंदरलाल तिवारी ने आरएसएस को बताया आतंकवादी संगठन

मध्यप्रदेश: विधानसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर बीजेपी में घमासान जारी, गोविंदपुरा से लड़ने पर अड़े बाबूलाल गौर

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की 177 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, 3 मंत्रियों समेत कई विधायकों के टिकट काटे

मध्यप्रदेश: शिवराज सिंह चौहान ने कहा- अगर सरदार पटेल प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान के पास कश्मीर का एक-तिहाई हिस्सा भी नहीं होता

राहुल गांधी के बयान शिवराज सिंह के बेटे ने दर्ज कराया मानहानि का केस, कहा- पूरी कांग्रेस ही कंफ्यूज है

मध्यप्रदेश: राहुल गांधी ने पीएम मोदी के खिलाफ फिर किया आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल

2017-04-01_people-on-the-street.jpg

मध्य प्रदेश के जनपद दमोह के हटा तहसील के कस्बा बस्ती मडियादो में महिलाओं और पुरुषों ने किया प्रदर्शन. इन लोगों की मांग है जो दारू के ठेके गाँव के अंदर हैं उन्हें तुरंत बंद किया जाए या गाँव से बहार कर दिया जाए. गाँव वालों ने एक आन्दोलन के रूप में इस मुहीम को शुरू किया है और इसी बाबत थाने में अपनी शिकायत दर्ज कराई. गाँव वालों का कहना सारा दिन इन ठेकों पर दारुखोर बैठे रहते हैं जो गाँव की महिलाओं और लड़कियों पर भद्दे कमेन्ट करते हैं और उनसे अभद्र व्यवहार करते हैं.

ज्ञापन में कहा गया है कि अप्रैल माह से यदि शराब दुकान गांव के बाहर संचालित नहीं की गई तो अभी शांत तरीके से होने वाला प्रदर्शन उग्र हो जाएगा.

बता दें कि शराब दुकान शासन द्वारा स्वीकृत है जोकि विगत कई वर्षों से गांव के बीच पटेली मुहल्ला में चलाई जा रही थी. गांव के बीच में शराब ठेका होने से यंहा रोज शराबियों का आतंक बढ़ता है, महफ़िलें सजती हैं और आये दिन दंगा-फसाद होता है. जिसे आने-जाने वाले सभी लोगों को परेशानी होती है. ज्ञापन में लोगों ने शासन और न्यायालय के आदेश का हवाला भी दिया है. जिसमे सभी प्रकार की शराब की दुकाने गांव के बाहर खोलने के नियम आदेश ठेकेदारों को दिये गए हैं.



loading...