ताज़ा खबर

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा- अगर नरेंद्र मोदी फिर से पीएम बनें तो शांति वार्ता के लिए बेहतर मौका होगा

पाकिस्तान के क्वेटा शहर की सब्जी मंडी में बम धमाका, 16 की मौत, 30 घायल

Mission Shakti: अमेरिका ने भारत के A-SAT परीक्षण का किया समर्थन, बताया किस वजह से किया टेस्ट

ब्रिटिश पुलिस ने विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को किया गिरफ्तार, वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में होंगे पेश

मालदीव में मोहम्मद नशीद की पार्टी एमडीपी को 87 में से 60 सीटें मिली, अब चीन को ऐसे होगी दिक्कत

निसान मोटर्स के पूर्व चेयरमैन कार्लोस घोसन को जमानत मिलने के बाद फिर किया गया गिरफ्तार, विश्वास हनन का लगा आरोप

नेपाल में भारी बारिश और तूफ़ान का कहर, 27 की मौत, 400 से अधिक घायल, राहत-बचाव कार्य में जुटी सेना

2019-04-10_ImranandModi.jpg

पाकिस्‍तानी के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि यदि नरेंद्र मोदी की अगुआई में बीजेपी लोकसभा चुनाव फिर से जीतती है तो दोनों देशों के बीच शांति बहाली के लिए बेहतर मौका होगा. विदेशी मीडिया से बातचीत करते हुए इमरान खान ने यह भी कहा कि यदि विपक्षी कांग्रेस के नेतृत्‍व में भारत में अगली सरकार बनती है तो दक्षिणपंथियों के भय की वजह से शायद वह कश्‍मीर के मुद्दे पर बातचीत के लिए आगे नहीं बढ़े.

इमरान खान ने इंटरव्‍यू के दौरान कहा कि यदि बीजेपी जीतती है तो इस बात की संभावना है कि कश्‍मीर के मुद्दे का कोई समाधान निकल जाए. हालांकि उन्‍होंने यह भी कहा कि मोदी के दौर में कश्‍मीरी मुस्लिम और भारत के मुस्लिम हाशिए पर हैं. उन्‍होंने कहा कि कई साल पहले तक भारतीय मुस्लिम यहां पर अपनी स्थिति को लेकर बेहद खुश थे लेकिन भारत में बढ़ते उग्र हिंदू राष्‍ट्रवाद के कारण अब वे बेहद चिंतित हैं.

इमरान ने पीएम मोदी की तुलना इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू से करते हुए कहा कि उनकी राजनीति भय और राष्‍ट्रवाद की भावना पर आधारित है. लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा ने अपने घोषणापत्र में कश्‍मीर को दिए विशेष अधिकारों (35-ए) को खत्‍म करने का वादा किया है. इस पर टिप्‍पणी करते हुए इमरान ने कहा कि हो सकता है कि ये चुनावी नारा हो लेकिन ये बेहद चिंता की बात है.

आपको बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के आत्‍मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए. इस घटना के बाद भारत और पाकिस्‍तान के रिश्‍तों में तल्‍खी बढ़ गई. पाकिस्‍तान ने इसमें अपनी किसी भी भूमिका से इनकार किया था, हालांकि जैश-ए-मोहम्‍मद ने इस हमले की जिम्‍मेदारी ली थी. उसके बाद भारत ने पाकिस्‍तान के भीतर घुसकर एयर स्‍ट्राइक की थी.



loading...