एयर स्ट्राइक से सदमे में पाकिस्तान, अपना हवाई क्षेत्र खोलने के लिए भारत के सामने रखी शर्त, कहा- बालाकोट जैसा हमला फिर न हो

2019-06-22_PakAirSpace.jpg

इमरान खान सरकार ने बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद से अपना पूर्वी हवाई क्षेत्र बंद कर रखा है. जिसकी वजह से भारत से जाने वाली या आने वाली उड़ाने उस रास्ते से होकर नहीं गुजर रही हैं और उन्हें लंबा रास्ता तय करना पड़ रहा है. अब इस हवाई क्षेत्र को खोलने के लिए पाकिस्तान ने शर्त रखी है कि यदि भारत वादा करे कि वह उसके क्षेत्र में बालाकोट जैसी एयर स्ट्राइक को नहीं दोहराएगा तो वह अपने हवाई क्षेत्र को खोलने के लिए तैयार है.

पाकिस्तान ने 26 फरवरी से अपने हवाई क्षेत्र को उस समय बंद कर दिया था जब भारत ने बालाकोट में स्थित जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को नेस्तानाबूत किया था. ऐसा पुलवामा आत्मघाती हमले का बदला लेने के लिए किया गया था. 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में जैश के आत्मघाती आतंकी ने सीआरपीएफ के काफिले को निशाना बनाया था. जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे.

सूत्रों का कहना है कि इस प्रतिबंध को 28 जून तक के लिए बढ़ाया गया है. माना जा रहा है कि पाकिस्तान अपने हवाई क्षेत्र को तब तक बंद रखेगा जब तक कि उसे भारत से किसी तरह का आश्वासन नहीं मिल जाता कि वह बालाकोट जैसी एयर स्ट्राइक को दोबारा नहीं करेगा. 27 मार्च को पाकिस्तान ने अपने हवाई क्षेत्र को भारत के अलावा सभी उड़ानों के लिए खोल दिया था. 15 मई के बाद से पूर्वी हवाई क्षेत्र पर लगे प्रतिबंध को तीन बार बढ़ाया गया है.

इस हफ्ते की शुरुआत में पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) ने कहा था कि सरकार 28 जून को इस मामले की समीक्षा करेगी लेकिन उन्होंने ज्यादा जानकारी देने से मना कर दिया था. पाकिस्तान में मौजूद सूत्रों का कहना है कि इस्लामाबाद भारत से बालाकोट एयर स्ट्राइक जैसी घटना को न दोहराए जाने के आश्वासन का इंतजार कर रहा है. यह प्रतिबंध तब तक जारी रहेगा जब तक कि दोनों देशों में उच्च स्तर पर इस मसले को उठाया और सुलाझाया नहीं जाता. 

सीएए के एक अधिकारी ने कहा कि हवाई क्षेत्र को सुरक्षा और कूटनीतिक कारणों की वजह से बंद किया गया है. उन्होंने कहा कि यह बहुत हैरानी वाली बात है कि प्रतिबंध को हटाने के लिए पर्दे के पीछे से भी किसी तरह की बातचीत नहीं हुई है. जबकि दोनों देशों की एयरलाइंस को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है. पिछले महीने पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉक्टर मोहम्मद फैसल ने कहा था कि हम भारत के साथ तनाव को कम करना चाहते हैं. यदि तनाव कम होता है तो हम हवाई क्षेत्र पर लगे प्रतिबंध को हटा देंगे.



loading...