अमेरिका की खुफिया एजेंसी ने किया खुलासा, नए परमाणु हथियार बना रहा है PAK, भारत पर करेगा हमला तेज

संयुक्त राष्ट्र संघ के पूर्व प्रमुख और नोबेल पुरस्कार से सम्मानित कोफी अन्नान का निधन

इमरान खान ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के तौर पर ली शपथ, भारत से पहुंचे सिद्धू

इमरान खान आज लेंगे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ, पहले दिन से कर्ज की दरकार

वाजपेयी के निधन पर बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा- उनके योगदान को हमेशा याद रखा जायेगा

नॉर्वे के मंत्री को गर्लफ्रेंड के साथ घुमाना पड़ा भारी, विवाद होने पर इस्तीफ़ा देना पड़ा

अमेरिका ने दूसरे देशों के छात्रों के लिए पॉलिसी सख्त की, नियम तोड़ने के अगले दिन से गैरकानूनी माना जाएगा प्रवास

2018-02-14_attack-on-india.jpg

अमेरिका ने पाकिस्तान के मंसूबों को लेकर भारत को वॉर्निंग दी है। अमेरिकी इंटेलिजेंस ने कहा कि पाक नए तरह के एटमी हथियार बना रहा है। इसमें शॉर्ट रेंज के हथियार शामिल हैं। वहीं, पाकिस्तान समर्थित आतंकी गुट भारत में लगातार हमला करने की फिराक में हैं। इससे क्षेत्र में खतरे के साथ भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ सकता है।

नेशनल इंटेलिजेंस के डायरेक्टर डेन कोट्स ने सांसदों को बताया कि पाकिस्तान लगातार एटमी वेपन्स तैयार कर रहा है, जिसमें कम दूरी तक मार करने वाली, समुद्र और हवा से मार करने वाली क्रूज और लॉन्ग रेंज की मिसाइल शामिल हैं। कोट्स ने ये बात तब कही है जब 10 फरवरी को कश्मीर के सुंजवान आर्मी कैंप में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने हमले को अंजाम दिया। इसमें 6 जवान शहीद हो गए। कोट्स ने ये भी कहा कि इन नए तरह के हथियारों से क्षेत्र में सिक्युरिटी को लेकर खतरा तो बढ़ेगा ही साथ ही इससे वेपन्स की होड़ भी बढ़ेगी।

कोट्स ने कहा कि अगले कुछ सालों में नॉर्थ कोरिया अपने हथियारों की वजह से अमेरिका के लिए सबसे बड़ा खतरा बन जाएगा। नॉर्थ कोरिया का कई देशों मसलन ईरान-सीरिया को बैलिस्टिक मिसाइल एक्सपोर्ट करने का भी इतिहास रहा है। सीरिया में तो उसने न्यूक्लियर रिएक्टर बनाने में भी मदद दी। 2017 में इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (ICBM) समेत कई मिसाइलों के टेस्ट किए। वह अब तक का सबसे बड़ा न्यूक्लियर टेस्ट भी कर चुका है। अगर वह ये टेक्नोलॉजी दूसरे देशों को देता है तो इसके नतीजे अच्छे नहीं होंगे।

 कोट्स ने कहा, पाक आर्मी समर्थित आतंकी गुट लगातार भारत पर हमला करेंगे। इससे दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ेगा। पाकिस्तान, आतंकी गुटों का सुरक्षित पनाहगाह है। पाक का प्लान है कि ये गुट भारत और अफगानिस्तान समेत अमेरिकी एस्टेबलिशमेंट पर हमला करें।

पाकिस्तान की हालत भारत की तुलना में काफी कमजोर है। पाक की सबसे बड़ी चिंता उसकी आर्थिक और सुरक्षा को लेकर कमजोरी है। इन हालात में वह अलग-थलग रहकर कोई दूसरा रास्ता ही अख्तियार कर सकता है। एलओसी पर लगातार गोलाबारी के चलते भारत और पाक के रिश्तों में तनाव बना रहता है। अगर भारत पर हमले होते हैं, तो तनाव में इजाफा ही होगा।



loading...