पद्मावत पर असदुद्दीन ओवैसी की मुसलमानों को सलाह- अल्लाह ने हमें ऐसी मनहूस फिल्म देखने के लिए नहीं बनाया है

पीएम नरेंद्र मोदी ने ब्लॉग लिखकर कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- परिवारवाद और वंशवाद ने देश को कमजोर कर दिया

मनी लॉन्ड्रिंग केस: कोर्ट में ED ने कहा- जांच में सहयोग नहीं कर रहे वाड्रा, हिरासत में लेकर पूछताछ की जरूरत

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा- 'मैं भी चौकीदार' अभियान से उन्हें परेशानी है जिनकी पार्टी और संपत्ति संकट में है

लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस ने जारी 56 उम्मीदवारों की पांचवीं लिस्ट, गाजियाबाद से डॉली शर्मा होंगी उम्मीदवार

PNB Fraud Case: भगोड़े नीरव मोदी के खिलाफ लंदन की कोर्ट ने जारी किया अरेस्ट वारंट, किसी भी वक्त हो सकती है गिरफ्तारी

Kartarpur Corridor: पाकिस्तान का दोहरा चरित्र आया सामने, गुरूद्वारे की जमीन पर किया कब्जा, भारत ने जताया विरोध

2018-01-19_7672asaduddinowaisi.jpg

हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने पद्मावत  फिल्म को मनहूस और गलीच बताया है। ओवैसी का मानना है कि पद्मावत एक बकवास फिल्म है। साथ ही उन्होंने मुस्लिम युवाओं से अपील करता हुए कहा है कि वे इसे देखकर अपना समय खराब न करें। ओवैसी ने कहा कि युवा अपना पैसा इस फिल्म पर खर्च करके बर्बाद न करें।

एक अंग्रेजी वेबसाइट के मुताबिक एक कार्यक्रम के संबोधन के दौरान ओवैसी ने कहा, 'पद्मावत मनहूस और बुरी फिल्म है, इस न देखें, क्योंकि अल्लाह ने इस दो घंटे की फिल्म को देखने के लिए नहीं बनाया है। अल्लाह ने तुम्हें जीवन में कुछ अच्छी चीजें करने के लिए बनाया है, जो कि सदियों तक याद की जाए।'

दरअसल, ओवैसी ने तीन तलाक पर सरकार की ओर से उठाए जा रहे कदमों पर भड़ास निकाली है। ओवैसी ने कहा कि मोदी सरकार बकवास फिल्म पर बहस के लिए 12 सदस्यों का पैनल बनाया जा सकता है, लेकिन पीएम के पास तीन तलाक पर विचार करने का समय नहीं है।

ओवैसी ने मुसलमानों को राजपूतों का उदाहरण देते हुए कहा कि वे अपनी संस्कृति के लिए एक साथ खड़े हैं, लेकिन मुस्लिम तीन तलाक पर दो धड़ों में बंट गए हैं। राजूपत एक साथ खड़े हैं और वे फिल्म को स्क्रीनिंग न होने की लगातार मांग कर रहे हैं, लेकिन हमारे मामलों में मुस्लिमों में एकता नहीं है।



loading...