भारत को रेपिस्तान कहने वाले 2010 के UPSC टॉपर शाह फैसल के खिलाफ एक्शन

महबूबा मुफ्ती ने पार्टी टूटने के डर से बीजेपी को दी धमकी, PDP को तोड़ने की कोशिश की तो कश्मीर में और सलाउद्दीन पैदा होंगे

जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने CRPF के दस्ते पर किया हमला, 2 जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में आतंकियों से मुठभेड़ में सेना का 1 जवान शहीद, 1 आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, 2 जवान घायल, 5 से 6 आतंकियों के छिपे होने की खबर

जम्मू-कश्मीर: शोपियां से अगवा किए गए कांस्टेबल जावेद डार की आतंकियों ने की हत्या, कुलगाम से शव बरामद

जम्मू-कश्मीर: महबूबा मुफ्ती के 3 MLA ने किया विद्रोह, बीजेपी में हो सकते हैं शामिल

2018-07-11_shahfaisal.jpg

तेजी से बढ़ती बलात्कार की घटनाओं के संबंध में ट्वीट करने वाले 2010 बैच के यूपीएससी परीक्षा के टॉपर शाह फैसल के खिलाफ जम्मू-कश्मीर सरकार ने अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की है. फैसल को भेजे गये एक नोटिस में सामान्य प्रशासन विभाग ने कहा है, आप कथित रूप से आधिकारिक कर्तव्य निभाने के दौरान पूर्ण ईमानदारी और सत्यनिष्ठा का पालन करने में असफल रहे हैं जो एक लोक सेवक के लिए उचित व्यवहार नहीं है. सूत्रों के अनुसार, विभाग ने केन्द्र के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के अनुरोध पर फैसल के खिलाफ कार्रवाई शुरू की है.

शाह फैसल ने ट्वीट किया था, जनसंख्या+पितृसत्ता+निरक्षरता+शराब+पॉर्न+तकनीक+अराजकता= रेपिस्तान.    

यह पोस्ट कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग को नागवार गुजरा. नोटिस मिलने के बाद उसकी एक प्रति ट्वीट करते हुए फैसल ने लिखा है, दक्षिण एशिया में बलात्कार के चलन के खिलाफ मेरे व्यंग्यात्मक ट्वीट के एवज में मुझे मेरे बॉस से प्रेम पत्र (नोटिस) मिला है.

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में फैसल ने कहा कि नौकरशाही इसे लेकर अति उत्साह दिखा रही है. मुझे नहीं लगता कि इस पर किसी भी तरह की कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि रेप सरकार की पॉलिसी का हिस्सा नहीं है. रेप की घटनाओं की आलोचना करना सरकार की नीति की आलोचना करना नहीं है.



loading...