ताज़ा खबर

मंगल ग्रह पर जाने के लिए एक लाख भारतीयों ने कराई बुकिंग

हामिद निहाल अंसारी की हुई वतन वापसी, वाघा-बार्डर पर धरती चूमकर ली एंट्री

CBI विवाद: बिचौलिये मनोज प्रसाद को कोर्ट से मिली जमानत, जानें- पूरा मामला

पीएम मोदी ने कहा- क्या किसी ने सोचा था 1984 दंगों के दोषियों को सजा मिलेगी, राफेल पर कांग्रेस को दिया करारा जवाब

राहुल गांधी ने कहा- किसानों की कर्ज माफी तक पीएम मोदी को न सोने दूंगा न बैठने दूंगा, नोटबंदी दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला

शीतकालीन सत्र: राफेल और सिख दंगो के मुद्दे पर हंगामे की भेंट चढ़ा प्रश्नकाल, लोकसभा कल तक के लिए स्थगित

1984 सिख दंगो में उम्रकैद की सजा मिलने के बाद सज्जन कुमार ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा

2017-11-09_Ticket-For-Mars.jpeg

मंगल पर नासा की ओर से साल 2018 में  एक फ्लाइट रवाना की जाएगी और इस सफर के लिए आम लोगों को भी निमंत्रण भेजा गया है। चौंका देने वाली बात है कि करीब 1 लाख भारतीयों ने मंगल ग्रह पर जाने की इच्छा जताई है। नासा की ओर से 2018 में मंगल ग्रह पर जाने वाली फ्लाइट के लिए 1,38,899 भारतीयों ने टिकट बुकिंग के लिए नामांकन भेजा है।

नासा के मुताबिक मंगल पर जाने के लिए फाइनल किए गए नामों को एक सिलिकॉन माइक्रोचिप पर इलेक्ट्रोन माइक्रोबिम के जरिए लिखा जाएगा। नासा ने कहा कि जिन लोगों ने मंगल पर जाने के लिए अपना नाम भेजा है उन्हें ऑनलाइन ही बॉर्डिंग पास दिए जाएंगे।

ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नासा के पास करीब दो करोड़ 42 लाख नाम आए हैं। दिलचस्प बात है कि मंगल पर जाने वाले देशों की लिस्ट में भारत तीसरे नंबर पर रहा, जबिक पहले पर अमेरिका और दूसरे पर चीन रहा है।

एक अंग्रेजी अख़बार की खबर के मुताबिक अमेरिका की ओर से 6,76,773 और चीन की ओर से 2,62,752 लोगों के नाम नासा के पास आए हैं। स्पेस एक्सपर्ट्स के मुताबिक लिस्ट में अमेरिका का सबसे ऊपर होना लाजमि है, क्योंकि ये नासा का मिशन है। वहीं चीन के बाद भारत का नंबर आना चौंकाने वाला है। हालांकि, इससे भारत और अमेरिका के रिश्तों में भी मजबूती आएगी।

बता दें कि 5 मई को निकलने वाली फ्लाइट 26 नवंबर 2018 को मंगल पर पहुंचेगी और ये करीब 720 दिन का मिशन है।



loading...