सीएम योगी के मंत्री ने आखिरी चरण में 3 सीटों पर विपक्ष को दिया समर्थन

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में खूनी संघर्ष में बदला जमीनी विवाद, 9 की मौत, दर्जन भर से अधिक घायल

पूर्व सपा नेता अतीक अहमद के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी, भारी पुलिसबल तैनात

अखिलेश सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति पर ED ने कसा शिकंजा, खनन घोटाला मामले में जेल में होगी पूछताछ

यूपी: साक्षी-अजितेश की शादी को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बताया वैध, पुलिस को सुरक्षा देने का दिया आदेश

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में जज ने मांगा 6 महीने का वक्त, SC ने कहा- निर्णय देने के बाद ही रिटायर किया जाए

इलाहाबाद हाईकोर्ट से अगवा किए गए प्रेमीजोड़े को यूपी पुलिस ने बदमाशों की गिरफ्त से छुड़ाया

2019-05-14_OmPrakashRajbhar.jpg

योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने लोकसभा चुनाव के 7वें चरण में पूर्वांचल की तीन सीटों पर विपक्षी दलों के प्रत्याशियों को समर्थन दिया है. लोकसभा चुनाव में भाजपा से टिकट को लेकर नाराज चल रहे राजभर ने मिजार्पुर में कांग्रेस और महाराजगंज तथा बांसगांव में गठबंधन प्रत्याशियों को समर्थन देने का फैसला लिया है. सुभासपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण राजभर ने बताया कि मिजार्पुर, महाराजगंज और बांसगांव में पार्टी के घोषित प्रत्याशियों का पर्चा खारिज होने की वजह से यह फैसला लिया गया है.

अरुण राजभर ने कहा कि पर्चा खारिज होने के बाद कार्यकर्ताओं के सुझाव पर पार्टी ने कांग्रेस और गठबंधन प्रत्याशियों को समर्थन देने का फैसला लिया है. इन तीनों सीटों पर पार्टी कार्यकर्ता भाजपा प्रत्याशी को हराने का काम करेंगे. आपको बता दें कि लोकसभा सीटों के बंटवारे को लेकर भाजपा से समझौता ना होने के बाद राजभर ने पूर्वांचल के 39 सीटों पर प्रत्याशी खड़े किए हैं, इनमें प्रधानमंत्री मोदी की संसदीय वाराणसी सीट भी शामिल है.

इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कह चुके हैं कि वह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनने के काबिल पाते हैं. सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के प्रमुख, जिनका कई मुद्दों पर भाजपा के साथ छत्तीस का आंकड़ा है, सुहेलदेव ने बलिया में पत्रकारों से कहा, "मैं राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनने के काबिल पाता हूं. अंतिम फैसला लोगों के हाथ में है और वे तय करेंगे कि भारत का अगला प्रधानमंत्री कौन होगा."

राजभर यहीं नहीं रुके और भाजपा की असहजता बढ़ाते हुए उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को लेकर 'लोगों को गुमराह करने का' आरोप लगाया.

योगी आदित्य नाथ के इस बयान पर कि अगर उन्हें मौका दिया जाए तो वह 24 घंटे में ही राम मंदिर मुद्दे का समाधान कर देंगे, राजभर ने मीडिया द्वारा इस बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि अगर वास्तव में भाजपा में इतनी क्षमता थी, तो देश पर शासन के दौरान पिछले पांच सालों में इसने ऐसा क्यों नहीं किया.



loading...