नन के साथ रेप के आरोपी फ्रैंको मुलक्कल ने पोप को लिखा खत, अस्थाई रूप से पद छोड़ने की पेशकश

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के खिलाफ तिरुवनंतपुरम कोर्ट में दर्ज कराया मानहानि का मामला

सबरीमाला मंदिर: तीर्थ यात्रियों की गिरफ्तारी को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी, केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोन्स ने की सरकार की आलोचना

सबरीमाला मंदिर: हिन्दू महिला नेता की गिरफ्तारी के बाद सग्राम जारी, केरल बंद

केरल: भारी विरोध-प्रदर्शन के बीच खुले सबरीमाला मंदिर के द्वार, बिना दर्शन किये वापस लौटेंगी तृप्ति देसाई

केरल: आज फिर खुलेंगे सबरीमाला मंदिर के द्वार, तृप्ति देसाई को एयरपोर्ट पर प्रदर्शनकारियों ने घेरा

सबरीमाला मंदिर मामला: भाजपा-कांग्रेस का सर्वदलीय बैठक से किनारा, सरकार अड़ी

2018-09-17_bishop.jpg

नन के साथ बलात्कार का आरोप झेल रहे वरिष्ठ कैथोलिक पादरी फ्रैंको मुलक्कल ने पोप को पत्र लिखकर जालंधर डायेसीस के बिशप पद से अस्थाई रूप से हटने की पेशकश की है. डायोसीस के प्रवक्ता ने बताया कि बिशप ने रविवार को पोप को चिट्ठी लिखी.

जालंधर डायोसीस की ओर से जारी बयान के अनुसार, बिशप फ्रैंको मुलक्कल ने होली फादर पोप फ्रांसिस को पत्र लिखकर अस्थाई रूप से पद छोड़ने की पेशकश की है और उन्हें डायोसीस के प्रशासनिक कार्यों से मुक्त करने का अनुरोध किया है.

बिशप ने नन के साथ बलात्कार के मामले में 19 सितंबर को केरल पुलिस के समक्ष पेश होने से पहले यह चिट्ठी लिखी है. नन ने पादरी पर 2014 से 2016 के बीच उसके साथ बार-बार बलात्कार करने का आरोप लगाया है. हालांकि बिशप ने इन आरोपों को आधारहीन बताकर खारिज किया है.



loading...