नन के साथ रेप के आरोपी फ्रैंको मुलक्कल ने पोप को लिखा खत, अस्थाई रूप से पद छोड़ने की पेशकश

सबरीमला मंदिर मामले देवासम बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का किया समर्थन, पुनर्विचार याचिकाओं पर कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला

केरल में राहुल गांधी ने कहा- हमारी सरकारी बनी तो हम सभी भारतीयों को न्यूनतम आय की गारंटी देंगे

सबरीमाला मंदिर में सबसे पहले एंट्री कर दर्शन करने वाली महिला को सास ने पीटा, हॉस्पिटल में भर्ती

गूगल सर्च में Bad Chief Minister सर्च करने पर आ रहा है केरल के सीएम पिनराई विजयन का नाम, समर्थकों ने RSS पर लगाया आरोप

केरल में सबरीमाला मामले को लेकर हिंसक प्रदर्शन, भाजपा और सीपीआईएम नेता के घर बम से हमला

केरल: सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर प्रदर्शन, झड़प में 1 की मौत, CM ने कड़ी कार्रवाई के दिए निर्देश

2018-09-17_bishop.jpg

नन के साथ बलात्कार का आरोप झेल रहे वरिष्ठ कैथोलिक पादरी फ्रैंको मुलक्कल ने पोप को पत्र लिखकर जालंधर डायेसीस के बिशप पद से अस्थाई रूप से हटने की पेशकश की है. डायोसीस के प्रवक्ता ने बताया कि बिशप ने रविवार को पोप को चिट्ठी लिखी.

जालंधर डायोसीस की ओर से जारी बयान के अनुसार, बिशप फ्रैंको मुलक्कल ने होली फादर पोप फ्रांसिस को पत्र लिखकर अस्थाई रूप से पद छोड़ने की पेशकश की है और उन्हें डायोसीस के प्रशासनिक कार्यों से मुक्त करने का अनुरोध किया है.

बिशप ने नन के साथ बलात्कार के मामले में 19 सितंबर को केरल पुलिस के समक्ष पेश होने से पहले यह चिट्ठी लिखी है. नन ने पादरी पर 2014 से 2016 के बीच उसके साथ बार-बार बलात्कार करने का आरोप लगाया है. हालांकि बिशप ने इन आरोपों को आधारहीन बताकर खारिज किया है.



loading...