US ही नहीं कई मित्र देशों में भारतीयों के लिए वीजा लेना है मुश्किल

2017-09-15_passport65.jpg

भारतीय IT प्रोफेशनल के लिए केवल अमेरिका ही नहीं बल्कि विश्व के कई देशों में वीजा लेना काफी मुश्किल कर दिया गया है. भारत के दोस्त जापान, सिंगापुर समेत पड़ोसी मुल्क चीन में भी वीजा लेने के लिए कई सारी पाबंदियां लगाई गई हैं या फिर नियमों को काफी सख्त कर दिया गया है.

जानकारी के अनुसार , इन देशों ने वीजा नियमों को सख्त केवल IT प्रोफेशनल के लिए ही किया है. सरकार अपनी तरफ से कई तरह के कदम उठाने जा रही है ताकि विदेश में भारतीयों के लिए नौकरी करने में किसी तरह की कोई दिक्कत न आए.

वहीं, विश्व के कई देशों में भारतीयों द्वारा वीजा लेने में कई तरह की अटकलें लगाई जाती हैं. पड़ोसी देश चीन में बिजनेस वीजा मिल तो जाता है लेकिन ये सिर्फ एक बार की एंट्री के लिए मिलता है. यहां पर राज्यों की तरफ से वीजा मिलता है. अगर आप एक राज्य से दूसरे राज्य में जाते हैं, तो वीजा के लिए दुबारा से अप्लाई करना पड़ता है. इसे आप महीनों के हिसाब से नहीं बल्कि कुछ चुनिंदा दिनों के लिए ले सकते हैं.

जापान के लिए वीजा अप्लाई करने पर ओरिजनल सर्टिफिकेट देना जरूरी है. ऑस्ट्रेलिया में वीजा लेने के लिए नए टेस्ट बनाए गए हैं, जिनकी डिटेल्स किसी को भी नहीं पता है.

वहीं, इंडोनेशिया में 15 दिन से अधिक रुकने के लिए वर्क परमिट होना जरूरी है. यहां पर वीजा लेने के लिए एक शर्त यह और है कि आपकी कंपनी में लोकल वर्कर का प्रतिशत अधिक हो.

फिलीपींस में 3 महीने रहने के लिए वीजा मिल सकता है, अगर आपके पास कम से कम डेढ़ लाख रुपये का बैंक बैलेंस है. जिन लोगों की शादी हो गई है, उन्हें अपने वीजा डॉक्यूमेंट्स के साथ कोर्ट में बना मैरिज सर्टिफिकेट और एजुकेशनल सर्टिफिकेट देने होंगे.



loading...