नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग, साउथ कोरिया से बातचीत को हुए तैयार

आतंकवादी बुरहान वानी को पाकिस्तान ने बताया फ्रीडम आइकॉन, जारी किया डाक टिकट

ऑस्ट्रेलिया में स्ट्रॉबेरी को खाने से डर रहे है लोग, 6 राज्यों में रुकी बिक्री, जानिए- क्या हैं कारण

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पीएम मोदी को लिखा खत, फिर से शुरू करना चाहते हैं शांति वार्ता

भ्रष्टाचार के मामले में जेल में बंद नवाज शरीफ, बेटी और दामाद को बड़ी राहत, इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने सजा पर लगाई रोक

ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में लोग अपने पसंदीदी फल स्ट्रॉबेरी को खाने से डर रहे हैं जानिए- क्या हैं कारण

जर्मनी में दौड़ने लगी पानी से चलने वाली ट्रेन, धुएं की जगह निकलता है भाप और पानी

2018-01-05_kim-north-korea.jpg

जंग की आहट के बीच नॉर्थ कोरिया अब साउथ कोरिया से अमन कायम करने के लिए बातचीत करने को तैयार हो गया है। डिप्लोमैटिक लेवल पर 2 साल से इस बातचीत की कोशिश चल रही थी। साउथ कोरिया के स्पोक्सपर्सन ने इस कामयाबी की पुष्टि की है। दोनों देशों के अफसरों के बीच यह बातचीत 9 जनवरी को शांति घर में होगी। 8 जनवरी को नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन का बर्थडे है। इसके अगले दिन ये बातचीत होगी।

CNN से बातचीत में साउथ कोरिया की यूनिफिकेशन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन बेकथे ह्यून ने कहा- हम दो साल से कोशिश कर रहे थे कि अपने पड़ोसी नॉर्थ कोरिया को बातचीत के लिए तैयार करें। ये कामयाबी मिल चुकी है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 8 जनवरी को नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन का बर्थडे है। इसके अगले दिन यानी 9 जनवरी को दोनों देशों के बीच यह हाईलेवल बातचीत शुरू होगी।

दोनों देशों के बीच यह बातचीत पानमुनजोन गांव में बने शांति घर में होगी। यह जगह खास है। दरअसल, यह गांव नॉर्थ और कोरिया की बॉर्डर पर है। इस इलाके का कुछ हिस्सा ऐसा है जहां दोनों देशों का कोई भी सैनिक तैनात नहीं रहता। 

2009 में दोनों देशों के बीच यह सहमति बनी थी कि इमरजेंसी होने पर दोनों देश इस इलाके में बने पीस हाउस में बातचीत करेंगे। इस दौरान इस इलाके में कोई सैनिक तैनात नहीं होगा और ना ही यहां किसी तरह की कोई फायरिंग की जा सकेगी।

ह्यून ने कहा कि बातचीत का एजेंडा अभी फाइनल नहीं किया गया है। इसके पहले दोनों देशों के अफसर कुछ डॉक्यूमेंट्स एक्सचेंज करेंगे। साउथ कोरिया में विंटर ओलिंपिक गेम्स होने हैं। इनको लेकर भी चर्चा मुमकिन है।

दोनों पड़ोसी देशों के बीच आखिरी बार बातचीत दिसंबर 2015 में हुई थी। तब नॉर्थ कोरिया की अपील पर इसे वहां के केईसोंग इंडस्ट्रियल इलाके में आयोजित किया गया था।  खास बात ये है कि केईसोंग में दोनों देशों की इंडस्ट्रीज मौजूद हैं। 2004 में इसे शुरू किया गया था। 2016 में जब नॉर्थ कोरिया ने मिसाइल टेस्ट किए और उसका साउथ कोरिया और अमेरिका से तनाव बढ़ा तो इसे बंद कर दिया गया था।



loading...