हंसने पर GST नहीं लगता, इसके लिए मुझे किसी से इजाजत लेने की जरूरत नहीं: रेणुका चौधरी

केंद्र सरकार ने हवाई यात्रियों को दी बड़ी राहत, फ्लाइट लेट-कैंसिल होने पर वापस होंगे पैसे

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू बोले- प्राचीन भारत में भी होता था मोतियाबिंद का ऑपरेशन, प्लास्टिक सर्जरी

आर्क बिशप ने चिट्ठी में की दोबारा मोदी सरकार न बनने की दुआ, ईसाइयों से उपवास की अपील

कर्नाटक में सरकार बनाने पर बोले बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, पहला हक़ हमारा था, कांग्रेस क्यूँ मना रही जश्न

अगले 3 दिन हैं उत्तर-पूर्वी राज्यों पर भारी, मौसम विभाग ने दी चेतावनी

बुजुर्ग, बीमार, घायल बैंक खाते के लिए आईडी के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं आधार के अलावा अन्य दस्तावे

2018-02-11_renuka-chowdhury.jpg

संसद में अपने ऊपर हुए रामायण कटाक्ष को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पलटवार करते हुए कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी ने रविवार को कहा कि हंसने पर कोई जीएसटी नहीं लगा है और उन्हें हंसने के लिए किसी की अनुमति की जरूरत नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि उनके खिलाफ मोदी की टिप्पणी महिलाओं के प्रति उनकी मानसिकता दर्शाती है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उनकी हंसी पर मोदी की टिप्पणी के बाद उन्हें देशभर से महिलाओं से अपार समर्थन मिला. उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि मैं पांच बार से सांसद हूं और प्रधानमंत्री मुझे नकारात्मक पात्र  के समानांतर बताते हैं. लेकिन वह भूल जाते हैं कि आज महिलाएं बदल गई हैं और उन्हें मालूम है कि अपने लिए कैसे बोलें. यह महिलाओं के प्रति उनकी मानसिकता दर्शाता है.

उन्होंने कहा कि यदि आप सही हैं तो यह सर्वत्र झलकता है. अब यही हो रहा है…कैसे और कब का कोई नियम नहीं है. आप हंसे…. और हंसी पर कोई जीएसटी नहीं है. पांच बार सासंद बनने के बाद हंसने के लिए मुझे किसी की इजाजत की जरूरत नहीं है. रेणुका ने कहा कि मेरे पिता ने मुझे लड़का या लड़की के रूप नहीं बल्कि इस देश के नागरिक के रूप में मेरी परवरिश की.

गौरतलब है कि मोदी के भाषण के दौरान कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी के काफी समय तक हंसते रहने के बाद सभापति वेंकैया नायडू नाराज हो गए. उन्होंने कहा था कि अगर आपको कुछ दिक्कत है तो डॉक्टर के पास जाइए. इस पर मोदी ने कहा था कि सभापति जी आपसे मेरी विनती है कि रेणुका जी को कुछ मत कहिए. रामायण सीरियल के बाद ऐसी हंसी सुनने का सौभाग्य आज मिला है. इसके बाद सदन में सभी सदस्य हंसने लगे  थे. 



loading...