ताज़ा खबर

यूपी में महागठबंधन को बड़ा झटका, बीजेपी में शामिल ही गोरखपुर के सांसद प्रवीण निषाद

शैक्षणिक योग्यता पर कांग्रेस के आरोपों पर स्मृति ईरानी ने कहा- जितना मेरा अपमान करोगे, अमेठी में उतनी ही मेहनत करूंगी

Lok Sabha Election: पहले चरण के मतदान के बाद मायावती ने उठाया EVM का मुद्दा, बीजेपी पर लगाया गड़बड़ी करने के आरोप

रायबरेली से नामांकन के बाद सोनिया गांधी ने कहा- कोई अजेय नहीं, 2004 में वाजपेयी भी हारे थे

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अमेठी से किया नामांकन, सीएम योगी आदित्यनाथ भी रहे मौजूद

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर भीषण हादसा, ट्रक-कार की टक्कर में 8 की मौत

आज रायबरेली से नामांकन दाखिल करने से पहले रोड शो करेंगी सोनिया गांधी, प्रियंका वाड्रा और राहुल गांधी भी रहेंगे साथ

2019-04-04_PraveenNishad.jpg

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सपा-बसपा और आरएलडी गठबंधन को बड़ा झटका लगा है. उपचुनाव में गोरखपुर सीट पर कब्जा करने वाली निषाद पार्टी का बीजेपी में विलय हो गया है. सूत्रों के मुताबिक, प्रवीण निषाद को बीजेपी गोरखपुर सीट से लोकसभा चुनाव में उतार सकती है. निषाद पार्टी के संस्थापक संजय निषाद के बेटे प्रवीण निषाद ने जेपी नड्डा की उपस्थिति में उन्होंने बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता हासिल की है. आपको बता दें कि पिछले साल हुए उपचुनाव में सीएम योगी आदित्यनाथ के गढ़ में सपा-बसपा-निषाद पार्टी ने गठबंधन कर बीजेपी को हराया था. इस सीट पर सीएम योगी लंबे समय तक सांसद रहे थे.

प्रवीण निषाद ने दिल्ली में बीजेपी मुख्यालय में पार्टी की सदस्यता ली. इस दौरान बीजेपी नेता जेपी नड्डा ने उनका पार्टी में स्वागत किया. इस दौरान बीजेपी नेता जेपी नड्डा ने कहा निषाद पार्टी का पूर्व के कई क्षेत्रों में प्रभाव है. उन्होंने कहा कि निषाद पार्टी ने पीएम मोदी की नीतियों से प्रभावित होकर BJP से गठबंधन किया है. आगामी लोकसभा चुनाव में निषाद पार्टी के बीजेपी में शामिल होने से उत्तर प्रदेश में एक तरफा सुनामी बीजेपी और पीएम मोदी की है. उन्होंने कहा कि हमें यकीन है कि बीजेपी भारी मतों से जीतेगी. 

वहीं, निषाद पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष संजय निषाद मे कहा कि उत्तर प्रदेश में रामराज के साथ निषाद राज होगा. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए वो गठबंधन में रहते हुए पूरी कोशिश करेंगे.

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी (SP) को समर्थन देने वाली निषाद पार्टी अब गठबंधन से अलग होने के बाद निषाद पार्टी के नेताओं ने लखनऊ में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से मुलाकात की थी. निषाद पार्टी के अध्‍यक्ष संजय निषाद लखनऊ में बीजेपी दफ्तर पहुंचे थे. इस मुलाकात के बाद साथ ही ये कायस लगाए जा रहे थे कि अब निषाद पार्टी बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी.


 



loading...