मां वैष्णो देवी के दर्शन के लिए अब एक दिन में जा सकेंगे बस 50 हजार श्रद्धालु, NGT का आदेश

2017-11-13_vaishnao-devi-NGT-Jammu-kashmir.jpg

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने माता वैष्णो देवी धाम में श्रद्धालुओं की बढ़ती भीड़ को लेकर सोमवार को ऑर्डर जारी किया। इसके मुताबिक, अब रोजाना 50 हजार लोगों को ही दर्शन की इजाजत दी जा सकती है। अगर ज्यादा संख्या में श्रद्धालु आते हैं तो इन्हें अर्धकुमारी या कटरा में रोका जाए। इसके अलावा मंदिर तक जाने के लिए 24 नवंबर से नया पैदल रास्ता खोलने और यात्रियों के लिए इलेक्ट्रिक कारें शुरू करने का ऑर्डर दिया गया है। साथ ही मंदिर परिसर में नए कंस्ट्रक्शन पर भी रोक होगी। श्राइन बोर्ड के आंकड़ों की मानें तो 2012 में एक करोड़ से ज्यादा लोगों ने यहां दर्शन किए थे।

वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की वेबसाइट के मुताबिक, पिछले कुछ सालों में देवी धाम पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। आंकड़ों के मुताबिक, 1986 में यहां आने वाले लोगों की संख्या करीब 14 लाख थी, जो 2012 में एक करोड़ से ज्यादा (104 लाख) हो गई। 2013 में कुल 93 लाख श्रद्धालुओं ने देवी मां के दर्शन किए। 2014 में करीब 78 लाख, 2015 में 78 लाख से ज्यादा और 2016 में करीब 77 लाख से ज्यादा लोगों दर्शन के लिए वैष्णो देवी आए थे।

साल के बाकी महीनों के मुकाबले गर्मियों में वैष्णो देवी मंदिर में दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या अचानक बढ़ जाती है। 2016 के आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल में करीब 8 लाख, मई में 9 लाख और जून में करीब 12 लाख लोग आए। जुलाई, अगस्त में संख्या घट गई।

ट्रिब्यूनल ने यह ऑर्डर देवी धाम के आसपास धार्मिक पर्यटन को ध्यान में रखते हुए लिया है।  बता दें कि पिछले साल भी एनजीटी ने श्राइन बोर्ड के सीईओ से सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट (MSW) और सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (STPs) को लेकर रिपोर्ट दाखिल करने को कहा था।



loading...