ताज़ा खबर

महाराष्ट्र: अनंत कुमार हेगड़े के बयान पर देवेंद्र फडणवीस की सफाई, कहा- केंद्र को 40 हजार करोड़ रुपए वापस करने की बात झूठी

NCP नेता अजित पवार को सिंचाई घोटाले में बड़ी राहत, महाराष्ट्र एंटी करप्शन ब्यूरो ने दी क्लीन चिट

महाराष्ट्र: उद्धव ठाकरे को बड़ा झटका, बीजेपी में शामिल हुए 400 शिवसेना कार्यकर्ता

महाराष्ट्र में बीजेपी को लग सकता है एक और झटका, पंकजा मुंडे ने पार्टी छोड़ने के दिए संकेत

देवेंद्र फडणवीस 80 घंटे के लिए क्यों बने मुख्‍यमंत्री?, बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े ने किया खुलासा

महाराष्ट्र: एनसीपी नेता अजित पवार ने कहा- मैं भविष्य का डिप्टी सीएम हूं या नहीं, इसका फैसला शरद पवार लेंगे

महाराष्ट्र: सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा- छत्रपति शिवाजी और उनके पूर्वजों के नाम पर शपथ लेना अपराध है तो मैं यह बार-बार करूंगा

2019-12-02_DevendraFadnavis.jpg

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बीजेपी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े के बयान को खारिज कर दिया है. वहीं दूसरी तरफ शिवसेना ने इस मसले पर फडणवीस पर निशाना साधा है. आपको बता दें हेगड़े ने दावा किया था कि केंद्र सरकार का 40 हजार करोड़ बचाने के लिए फडणवीस ने सीएम पद की शपथ ली थी.

पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा, 'यह बयान गलत है मैं इसे सिरे से नकारता हूं, बुलेट ट्रेन केंद्र के सहायता से तैयार हो रही है इसमें महाराष्ट्र सरकार की भूमिका सिर्फ भूमि अधिग्रहण तक सीमित है.' फडणवीस ने कहा कि न केंद्र ने महाराष्ट्र से कोई पैसा मांगा न केंद्र को महाराष्ट्र ने कोई पैसा दिया. मेरे मुख्यमंत्री रहते या कार्यवाहक मुख्यमंत्री लेते ऐसा कोई फैसला मैंने नहीं लिया है. सरकार का वित्त विभाग करे इसकी जांच करके इसका सच जनता के सामने लाए.

वहीं शिवसेना सांसद संजय राउत ने इस मामले पर फडणवीस पर निशाना साधा है. राउत ने ट्वीट कर कहा, 'BJP सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने कहा है कि 80 घंटे के लिए मुख्यमंत्री बनकर देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के 40,000 करोड़ रुपये को केंद्र को दे दिया? यह महाराष्ट्र के साथ गद्दारी है.'

उत्तर कन्नड़ में बोलते हुए अनंत हेगड़े ने कहा, 'आप सब जानते हैं हमारा आदमी महाराष्ट्र में 80 घंटों के लिए मुख्यमंत्री बना उसके बाद फडणवीस ने इस्तीफा दे दिया. उन्होंने यह ड्रामा क्यों किया? क्या वह नहीं जानते थे कि उनके पास बहुमत नहीं है, फिर भी वह मुख्यमंत्री बने. यह वह सवाल है जो हर कोई पूछ रहा है.

अनंत कुमार हेगड़े ने आगे कहा, 'मुख्यमंत्री के नियंत्रण में केंद्र के 40 हजार करोड़ रुपये थे. वह जानते थे कि यदि कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना की सरकार सत्ता में आ जाती है तो वे विकास के बजाए रकम का दुरुपयोग करेंगे. इस वजह से यह पूरा ड्रामा करने का फैसला लिया गया. फडणवीस मुख्यमंत्री बने और 15 घंटे में केंद्र को 40 हजार करोड़ रुपये वापस कर दिए गए.'


 



loading...