ताज़ा खबर

CM अमरिंदर से तनातनी के बीच नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से की मुलाकात, खत भी सौंपा

2019-06-10_NavjotSinghSiddhu.jpg

पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की. उन्होंने राहुल गांधी को एक पत्र सौंपा है जिसमें उन्हें राज्य की परिस्थिति से अवगत कराया गया है. इस दौरान प्रियंका गांधी वाड्रा और अहमद पटेल भी मौजूद थे. सिद्धू विभाग बदले जाने से नाराज हैं. इससे पहले बीते हफ्ते भी सिद्धू राहुल से मिलने दिल्ली पहुंचे थे लेकिन दो दिन तक इंतजार करने के बाद भी राहुल ने उन्हें मिलने का समय नहीं दिया था.

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने मंत्रियों के विभागों में फेरबदल किया है. इसी के तहत उन्होंने सिद्धू से स्थानीय निकाय और पर्यटन व सांस्कृतिक मामले विभाग वापस लेकर उन्हें बिजली व अक्षय ऊर्जा विभाग सौंपे हैं.

सिद्धू ने अभी तक विभाग का कार्यभार नहीं संभाला है. वहीं दूसरी ओर सिद्धू के दिल्ली पहुंचने से पहले इस पूरे मामले की रिपोर्ट पंजाब से आलाकमान को दे दी गई थी. रविवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिद्धू को एक और झटका दिया है. उन्होंने आठ समूह बनाए हैं, जिनमें से किसी में भी सिद्धू को शामिल नहीं किया गया है. 

दरअसल, पंजाब में विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों को लागू करने में तेजी लाने के लिए कैप्टन ने आठ सलाहकार समूहों का गठन किया है. यह समूह कार्यक्रमों और योजनाओं की समीक्षा करके भविष्य में सुधार का ब्लूप्रिंट देगा. सलाहकार समूह चार सप्ताह में अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को देंगे. रिपोर्ट पर जुलाई 2019 में होने वाली कैबिनेट की बैठक में चर्चा की जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा स्कीम को प्रभावी बनाने के लिए यह निर्णय लिया गया है. 

मुख्यमंत्री शहरी कायाकल्प एवं सुधार संबंधी सलाहकारी ग्रुप के प्रमुख होंगे. इसमें स्मार्ट सीटी, अमरूत, यूईआईपी और हुडको शामिल हैं. मुख्यमंत्री इस ग्रुप के चेयरमैन होंगे, जबकि स्थानीय निकाय मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा, वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल, भवन निर्माण एवं शहरी विकास मंत्री सुखबिंदर सिंह सरकारिया, लोक निर्माण मंत्री विजय इंदर सिंगला, खाद्य एवं सिविल सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशू समेत अन्य सदस्य होंगे.
 



loading...