नाखुश नितिन से मिले नरोत्तम, कहा-मांगों पर विचार करे BJP नेतृत्व

भारी बारिश से गुजरात में बाढ़ जैसे हालात, अब तक 29 लोगों की मौत, कई ट्रेनें फंसी, NDRF-AIR FORCE अलर्ट पर

गुजरात: 2 महीने से है टूटा पुल, 9 फीट ऊंचे नाले को यूं पारकर स्कूल जा रहे बच्चे

गुजरात: कांग्रेस के विधायक कुंवरजी बावलिया ने पार्टी छोड़ी, BJP में हुए शामिल, शाम को बनेंगे मंत्री

सूरत के नवागाम फ्लाईओवर सड़क हादसे में 3 की मौत, पुल से गिरती मां ने बच्चे को उछाला, दूसरी महिला ने थाम लिया

वडोदरा: स्कूल के टॉयलेट में मिला 9वीं के छात्र का शव, चाकू से की गोदकर हत्या

काग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर ने सार्वजनिक कार्यक्रम के मंच पर उड़ाए नोट, video वायरल, कहा- अच्छे काम के लिए ऐसा किया

2017-12-30_narottam-patel-nitin-patel.jpg

गुजरात की सत्ता पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बहुमत से काबिज होने के बाद रुपानी के कैबिनेट में उपेक्षा से राज्य के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल नाराज चल रहे हैं। जिसके बाद भाजपा नेता नरोत्तम पटेल उनके समर्थन में आए हैं। 

उन्होंने शनिवार (30 दिसंबर) को अहमदाबाद में कहा कि नितिन भाई पटेल गुजरात के डिप्टी सीएम और काफी नेता हैं। मैं यहां उनसे मिलने के लिए आया क्योंकि मन चाहे विभाग न मिलने की वजह से वह खुश नहीं हैं। मैं चाहता हूं कि पार्टी इस मुद्दे पर फिर से विचार करे। उन्होंने यह भी साफ किया कि नितिन पटेल ने इस्तीफा देने जैसी कोई बात नहीं कही है।

गौरतलब है कि नितिन पटेल के बागी तेवर के बाद विजय रूपाणी कैबिनेट में दरार पड़ती दिख रही है। सूत्रों की माने तो राज्य के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल वित्त मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय छिन जाने से नाराज चल रहे हैं और इसलिए उन्होंने यह धमकी दी है। ऐसी अटकलों के बाद पटेल आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल को अपने साथ आने का ऑफर दिया है। हार्दिक ने कहा कि नितिन पटेल अपने 10 विधायकों के साथ बीजेपी छोड़ने के लिए तैयार हैं तो वह कांग्रेस से उनके लिए अच्छे पद के लिए बात करेंगे। हार्दिक ने कहा कि अगर बीजेपी नितिन का सम्मान नहीं करती तो उन्हें यह पार्टी छोड़ देनी चाहिए।

बता दें कि कैबिनेट के कई मंत्री अपना कार्यभार संभाल चुके हैं, लेकिन नितिन पटेल ने अभी तक अपना कार्यभार नहीं संभाला है। पाटीदार नेता नितिन पटेल इससे पहले भी राज्य के उपमुख्यमंत्री रहे हैं, पर इस बार राजस्व, शहरी और वित्त मंत्रालय छिन जाने का मुद्दा उनके सम्मान तक पहुंच गया है। दरअसल, वित्त मंत्रालय नितिन पटेल के जूनियर सौरभ पटेल को दे दिया गया है और बाकी के दो मंत्रालय खुद सीएम विजय रूपाणी के पास हैं।



loading...