गृह मंत्रालय ने पीएम मोदी की बढ़ाई सुरक्षा, एसपीजी की इजाजत के बिना मंत्री और अफसर भी पास नहीं जा सकेंगे

2018-06-27_modisecurity.jpg

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यक्रमों और रोड शो के दौरान आम लोगों के बेहद करीब पहुंच जाते हैं. कई बार लोग भी उनसे हाथ मिलाने या कोई उपहार देने के लिए पहुंच जाते हैं. ऐसा पिछले दिनों कई बार देखने को मिला. लेकिन आने वाले दिनों शायद पीएम मोदी के ऐसे दृश्य दिखाई ना दें. गृह मंत्रालय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा के लिए नई गाइडलाइंस जारी की हैं. मंत्रालय के सूत्रों ने इसका खुलासा किया है. उन्होंने बताया कि राज्यों की गृह मंत्रालय द्वारा सभी राज्यों को ये गाइडलाइंस पहले ही भेजी जा चुकी हैं.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने एक बैठक के बाद ये निर्णय लिया कि पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा को और चाक-चौबंद करने की आवश्यकता है. ये बैठक जून के पहले सप्ताह में उनके आवास पर हुई, जिसमें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल, केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा और खुफिया ब्यूरो के निदेशक राजीव जैन ने भाग लिया था.

माओवादियों द्वारा पीएम मोदी की हत्या के कथित खतरे के चलते इस बैठक को बुलाया गया था. महाराष्ट्र पुलिस ने 7 जून को पुणे में एक अदालत को सूचित किया था कि उन्होंने 6 जून को दिल्ली के निवासी रोना विल्सन के घर से एक पत्र जब्त किया था. विल्सून का संबंध माओवादी से होने का आरोप है. इस पत्र से भी सामने आया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की की जान को खतरा है. पीएम मोदी की देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तरह ही हत्या करने की माओवादियों द्वारा साजिश रची जा रही है. इसलिए सलाह दी गई थी पीएम मोदी रोड शो के दौरान विशेष सावधानी बरतें, क्यों कि इस दौरान उन पर हमला हो सकता है.



loading...