विधानसभा चुनाव: त्रिपुरा में गरजे पीएम मोदी, राज्‍य को माणिक की जगह 'हीरा' की जरूरत

ऐश्वर्या मिस वर्ल्ड बनीं तो ठीक, पर डायना का बनना समझ से परे: त्रिपुरा के सीएम

त्रिपुरा: विधानसभा में गाया गया पहली बार राष्ट्रगान, CPM विधायक ने कहा- पहले हमसे नहीं की गई बात

त्रिपुरा: बिप्लब देब बनेंगे त्रिपुरा के सीएम, जिष्णु देब वर्मा होंगे उपमुख्यमंत्री

त्रिपुरा: BJP समर्थकों का हंगामा, लेनिन की मूर्ति गिराई, राजनाथ ने गवर्नर से सरकार बनने तक हालात पर नजर रखने को कहा

BJP की त्रिपुरा इकाई के पूर्व अध्यक्ष रोनाजॉय कुमार देव ने दिया पार्टी से इस्तीफा

त्रिपुरा असेंबली इलेक्शन: चुनावी-सुनामी कार्यक्रम में बीजेपी प्रत्याशी रतन चक्रवर्ती ने कहा- प्रदेश में बनेगी बीजेपी की सरकार

2018-02-08_modi-tripura.jpg

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने त्रिपुरा चुनाव के लिए गुरुवार को कैंपेनिंग की. मोदी ने त्रिपुरा के सोनामुरा में चुनावी रैली की. मोदी ने इस रैली में कहा कि त्रिपुरा गौरव की नई ऊंचाई को छूना चाहता है. यहां लोग अधिक और बेहतर रोजगार के अवसर चाहते हैं. मोदी ने ‘चलो पलटाई’ (लेट्स चेंज) का नारा देकर भाषण की शुरुआत की. मोदी ने रैली में कहा कि हमारे देश में 51 शक्ति पीठ का हर कोई स्मरण करता है. इन 51 शक्तिपीठों में से एक देवी त्रिपुरा सुंदरी हैं, ये उन्हीं का स्थान है. मैं इस धरती को नमन करता हूं.

सोनामुरा की रैली में मोदी ने कहा कि त्रिपुरा सरकार ने यहां अपने खिलाफ बोलने वाले लोगों के लिए एक डर का माहौल बना दिया है. ‘रोज वैली’ जैसे घोटालों ने गरीबों को बर्बाद कर दिया है, जिन्होंने गरीबों संग ये लूट की है, उन्हें सामने लेकर आना होगा. उन्होंने कहा कि देश का भाग्य तब बदलेगा, जब त्रिपुरा का भाग्य बदलेगा.

मोदी ने आगे कहा कि अब माणिक नहीं चाहिए, माणिक से मुक्ति ले लो, अब आपको हीरा चाहिए. हीरा का H मतलब हाईवे, I मतलब आईवे (डिजिटल कनेक्टिविटी), R मतलब रोडवे, A मतलब एयरवे. उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में जादूगर की सरकार चल रही है, यहां के लोग मायाजाल में फंसे है.

त्रिपुरा में 18 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार जोरों पर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को राज्य के एक दिवसीय दौरे पर हैं. पीएम मोदी ने कहा कि त्रिपुरा में अब विकास का युग आने वाला है. जब जनता बोलती है तो सरकारें चुप हो जाती हैं. राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए यह पीएम मोदी की पहली रैली थी.

मोदी ने कहा कि बंगाल में जादूगर सरकार का नाम तो सुनते थे, लेकिन त्रिपुरा में एक ऐसी जादूगर सरकार है जिसके मायाजाल ने लोगों को बर्बाद किया. लोगों को सिर्फ सफेद कुर्ता दिखाया, अंदर का काला मैल नहीं. त्रिपुरा में आज अंधकार युग है, हमें इसे विकास की ऊंचाइयों पर ले जाना है. त्रिपुरा में शासन में बैठे लोग राज्य के मानवीय अधिकारों की अनदेखी करते रहे हैं.

मोदी ने कहा कि माणिक सरकार ने लोगों को धोखा दिया है. त्रिपुरा में विकास का युग आने वाला है, लोगों के सपने पूरे होंगे. राज्य में लोगों को उनके हक का पैसा नहीं मिला, ये किसी अपराध से कम नहीं. माणिक सरकार को अपराध की सजा मिलनी चाहिए. धोखा करने वाली सरकार का बोरिया-बिस्तर फेंक दो.

पीएम ने पूछा कि माणिक सरकार ने 7वां वेतन आयोग लागू क्यों नहीं किया? बीजेपी ने वादा किया है कि देश में मजदूरों के लिए तय मिनिमम वेज त्रिपुरा में भी मिलना चाहिए या नहीं. 1996 के बाद से त्रिपुरा में वेतन में सुधार न किया जाना हैरान करता है. त्रिपुरा में लोकतंत्र को तोड़ा-मरोड़ा गया, लेकिन अब ये नहीं चलेगा. केंद्र से भेजे गए पैसों का या तो त्रिपुरा में खर्च नहीं होता है या हिसाब नहीं मिलता है. त्रिपुरा के गरीबों को लूटा गया, लाखों परिवारों को तबाह कर दिया गया. जिन लोगों ने गरीबों को लूटा है, उन्हें ऐसी सजा दो कि फिर से कोई गरीब का एक रुपया भी छीनने की हिम्मत नहीं करे.

60-सदस्यीय त्रिपुरा विधानसभा के चुनाव में बीजेपी ने 51 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं, जबकि 9 सीटों पर उसने अपने सहयोगियों के उम्मीदवारों को उतारा है. सीपीएम ने 57 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया, फॉरवर्ड ब्लॉक और क्रांतिकारी सोशलस्टि पार्टी को एक-एक सीट दी है. वहीं कांग्रेस ने सभी 60 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की है. राज्य में 18 फरवरी को चुनाव होंगे और वोटों की गिनती 3 मार्च को होगी.



loading...