मुशर्रफ का राष्ट्रीय पहचान पत्र और पासपोर्ट हुआ रद्द, कहीं भी आना-जाना होगा गैरकानूनी

शरणार्थी बच्चों से मिलने के बाद ट्रंप की पत्नी मेलानिया ट्रंप ने पहनी ऐसी जैकेट देखकर मचा बवाल, ट्रम्प को देनी पड़ी सफाई

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न बनीं माँ, ऐसा करने वाली दूसरी महिला, इससे पहले बेनजीर ने बेटी को जन्म दिया था

डोनाल्ड ट्रंप ने बदला फैसला, अमेरिका में अवैध प्रवासियों के बच्चे अब परिवार से नहीं बिछड़ेंगे

ट्रंप से मुलाकात के हफ्तेभर बाद चीन पहुंचे किम, 4 महीने में तीसरा दौरा, जिनपिंग से करेंगे मुलाकात

चीनी राजदूत ने कहा- भारत-पाकिस्तान और चीन मिलकर रच सकते हैं इतिहास, हम एक और डोकलाम नहीं चाहते

जापान के ओसाका शहर में 6.1 तीव्रता का भूकंप, 3 मरे, 50 घायल, बुलेट ट्रेन भी रोकी गई

2018-06-08_parvej.jpg

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ का राष्ट्रीय पहचान पत्र और पासपोर्ट निलंबित कर दिए गए हैं. पाकिस्तान सरकार के आंतरिक मंत्रालय ने 1 जून को ही इससे जुड़ा एक आदेश जारी किया था. इसमें कहा गया था कि विशेष अदालत के 8 मार्च के फैसले के आधार पर मुशर्रफ का पासपोर्ट और पहचान पत्र रद्द कर दिया जाना चाहिए. अब इस आदेश के लागू हो जाने के बाद दुबई में रह रहे मुशर्रफ विदेश यात्रा नहीं कर सकेंगे. इसके साथ ही उनके बैंक खाते भी फ्रीजबंद हो जाएंगे. बता दें कि 2007 में संविधान को पलटकर राष्ट्रपति शासन लगाने को लेकर उन पर देशद्रोह का मामला चल रहा है.

मुशर्रफ ने 2007 में पाकिस्तान में इमरजेंसी का ऐलान किया था, इसके चलते देश के कई बड़े जजों को उनके घरों में ही कैद कर दिया गया था. इसके अलावा 100 से भी ज्यादा जजों को उनके पद से हटा दिया गया था. 2013 में सत्ता पर काबिज होने के बाद प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पहली बार जून में संसद को मुशर्रफ के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दायर करने के बारे में सूचित किया था. मुशर्रफ 2014 में राजद्रोह के मामले में दोषी पाए गए थे. इसके बाद से ही उन पर पाक की विशेष अदालत में सुनवाई चल रही है.

2016 में सुनवाई के दौरान ही मुशर्रफ इलाज के लिए दुबई चले गए थे. इसके कुछ महीने बाद ही अदालत ने उन्हें भगोड़ा घोषित करार देते हुए उनकी संपत्तियों को जब्त करने का आदेश दे दिया था. रिपोर्ट में ये भी दावा किया गया है कि अब जब मुशर्रफ का पहचान पत्र और पासपोर्ट निलंबित कर दिया गया है तो  ऐसे में वे ना तो विदेश यात्रा कर पाएंगे और ना ही बैंकिंग से जुड़े लेनदेन भी कर पाएंगे. साथ ही दुबई में भी उनका ठहरना भी गैरकानूनी हो जाएगा. 



loading...