भारी बारिश से मुंबई-ठाणे में 7 लोगों की मौत, 15 राज्यों में बारिश का अनुमान, राजस्थान में तापमान के पार

2018-07-09_mubmai.jpg

महाराष्ट्र के मुंबई और ठाणे में पिछले 24 घंटे से भारी बारिश हो रही है. इससे जुड़ी घटनाओं में 7 लोगों की मौत हो गई है. नाला सोपारा, वसई, नवी मुंबई और ठाणे के कई इलाकों में सोमवार को पानी भर गया. नाला सोपारा में रेलवे ट्रेक पर पानी भरने से वेस्टर्न लाइन पर लोकल ट्रेनें 10 से 15 मिनट धीमी चलीं. रेलवे का कहना है कि बाकी इलाकों में रेल सेवा पर कोई असर नहीं पड़ा है. उधर, मौसम विभाग ने आज 15 राज्यों में बारिश का अनुमान जताया है. राजस्थान में मानसून थमने से रविवार को 8 शहरों का पारा 40 के पार चला गया.

मुंबई के दादर, सायन, माटुंगा, बांद्रा, खार, सांताक्रूज, कांदिवली, बोरीवली और कोलाबा समेत कई इलाकों में रुककर और कहीं तेज बारिश हो रही है. मौसम विभाग के मुताबिक, रविवार सुबह 8.30 बजे से सोमवार सुबह 8.30 बजे तक कोलाबा में 170.6 मिलीमीटर और सांताक्रूज में 122 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है. रविवार को भारी बारिश होने से बस सेवाएं भी रोकी गईं. घाटकोपर स्टेशन स्थित एक ब्रिज पर दरारें पड़ गईं हैं, जिसके चलते इसे बंद कर दिया गया.

गोवा, महाराष्ट्र के विदर्भ, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा, दक्षिण छत्तीसगढ़, गुजरात, तेलंगाना, तटीय और दक्षिण कर्नाटक, केरल, उत्तराखंड, पूर्वी उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय और ओडिशा में बारिश होने का अनुमान है.

राजस्थान में मानसून ने 27 जून को दस्तक दी थी. 2 दिन बाद ही मानसून पूरे प्रदेश में छा गया था. अब इसकी रफ्तार धीमी पड़ गई है. रविवार को करीब 8 शहरों में पारा 40 के पार रहा. राजस्थान मौसम विभाग के निदेशक जीएस नगराले के अनुसार वेस्टर्न डिस्टरबेंस होने से मानसून पूरे प्रदेश में सक्रिय नहीं हो सका है, लेकिन 10 जुलाई से बारिश का अनुमान है. इसके बाद ही पूरे प्रदेश में बारिश होने की स्थिति साफ हो सकेगी.

राज्य के कई हिस्सों में रविवार को भी मूसलाधार बारिश हुई. सबसे ज्यादा उमरगांव तहसील इससे प्रभावित हुआ. उमरगांव में पिछले 13 घंटे में 13 इंच बारिश से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. पिछले 15 दिनों में यहां 55 इंच बारिश हो चुकी है. मानसून आने के बाद से पूरे गुजरात में 32 इंच बारिश रिकॉर्ड की जा चुकी है. उधर, नवसारी जिले के बिलीमोरा में समुद्र में अपने दोस्तों के साथ नहाने गए दो बच्चे समुद्र में डूब गए. उनकी मौत हो गई. भारी बारिश के कारण सरीगाम जीआईडीसी में भारी नुकसान हुआ है. उमरगांव में कई सड़कों पर पानी जमा हो गया. भीलाड़ सरीगाम स्टेट हाईवे के सरीगाम बाजार में डेढ़ से दो फीट पानी जमा हो गया. इससे दूसरे रास्ते से वाहनों को निकाला गया. नर्मदा जिले में 7 इंच बारिश के कारण कई पुल बह गए, जिसके कारण 5 गांवों का संपर्क टूट गया.



loading...