अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के भतीजे रिजवान कासकर पर कसा कानूनी शिकंजा, मुंबई क्राइम ब्रांच ने लगाया मकोका

महाराष्ट्र: उस्मानाबाद में चुनावी रैली के दौरान शिवसेना सांसद पर चाकू से हमला, हमलावर फरार

महाराष्ट्र: अकोला में बोले पीएम मोदी- आपका आशीर्वाद बना रहेगा तो मोदी नया-नया काम करता रहेगा

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी किया संकल्प पत्र, जानिए जनता से क्या किया वादा

मुंबई के अंधेरी इलाके में बहुमंजिला इमारत में लगी आग, 3 लोगों को निकाला गया, रेसक्यू ऑपरेशन जारी

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: शिवसेना ने जारी किया घोषणा पत्र, 10 रुपए में गरीबों को भोजन देने की योजना

महाराष्ट्र में बोले अमित शाह, डोनाल्ड ट्रंप हों या कोई और कश्मीर पर कोई हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं करेंगे

2019-07-29_RizwanKaskar.jpg

मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पाकिस्तान में छिपे बैठे अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के भतीजे रिजवान कासकर और दो अन्य पर मकोका लगाया है. अब एसीपी इसकी जांच करेंगे. व्यापारी से फिरौती वसूली के आरोप में 18 जुलाई को रिज़वान कासकर को मुंबई पुलिस ने उस वक्त गिरफ्तार किया था जब वो देश छोड़कर भागने की तैयारी में था. पुलिस अब वसूली के इस धंधे के सरगना को ढूंढ रही है.

पुलिस के अनुसार जबरन वसूली के इस पूरे नेक्सस के सरगना छोटा शकील और फहीम मुचमच हैं, जो इस मामले में वांटेड हैं. पिछले 10 वर्षों में छोटा शकील के खिलाफ 100 से अधिक मामले और फहीम मुचमच पर 50 मामले दर्ज किए गए. पुलिस ने मकोका इसलिए लगाया है क्योंकि इस गैंग के सरगना पर दो अधिक केस हैं.

रिजवान कासकर दाऊद के भाई इकबाल कासकर का बेटा है. आपको बता दें कि दाऊद इब्राहिम और छोटा शकील के खिलाफ जांच करते हुए मुंबई पुलिस ने इससे पहले अफरोज वडारिया उर्फ अहमद रजा को 17 जुलाई को गिरफ्तार किया था. मुंबई पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार वडारिया के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर नोटिस जारी किया गया था, जिसके आधार पर उसे गिरफ्तार किया गया.

अधिकारियों ने बताया कि वह छोटा शकील का करीबी सहयोगी था और उसके लिए हवाला लेनदेन का काम करता था. अधिकारी ने कहा कि जैसे ही वह मुंबई पहुंचा, उसे हवाई अड्डे पर ही गिरफ्तार कर मुंबई पुलिस को सौंप दिया गया.
 



loading...