ताज़ा खबर

यूपी: बहराइच से सांसद सावित्री बाई फुले ने बीजेपी से दिया इस्तीफा, कहा- दलितों को राम मंदिर नहीं संविधान चाहिए

UP में सपा-बसपा और रालोद मिलकर लड़ेंगे 2019 का चुनाव, कांग्रेस के महागठबंधन से बनाई दूरी

UP: किसानों को मुआवजा नहीं मिलने से नाराज विधायक चौधरी उदयभान सिंह ने एसडीएम को धमकाया, बोले- मेरी ताकत का अंदाजा नहीं, Video वायरल

उत्‍तर प्रदेश के शाहजहांपुर में बच्चों ने कहा- गुड मोर्निंग तो प्रधानाध्यापक ने लगा दी पिटाई, कहा- ‘सलाम वालेकुम’ कहो

दिल्ली से सटे नोएडा में स्कूल की दीवार गिरने से 2 बच्चों की मौत, आधा दर्जन से ज्यादा घायल, बचाव कार्य जारी

ग्रेटर नोएडा के पास बिसरख में खाने को लेकर हुई कहासुनी में नाराज बीवी ने 14वीं मंजिल से कूदकर की खुदखुशी

बुलंदशहर हिंसा मामले में SSP समेत 3 अफसरों पर गिरी गाज, इंस्पेक्टर सुबोध को गोली मारने वाला फौजी जीतू गिरफ्तार

2018-12-06_SavitribaiPhule.jpg

उत्‍तर प्रदेश के बहराइच से बीजेपी सांसद सावित्री बाई फुले ने गुरुवार को बीजेपी से इस्‍तीफा दे दिया है. फुले ने इस्‍तीफा देने के बाद कहा कि दलितों को श्रीराम मंदिर नहीं, संविधान चाहिए. हनुमान जी दलित थे तभी भगवान श्रीराम ने उन्‍हें बंदर बनाया. उन्‍होंने कहा कि दलित सांसद होने के कारण मेरी बातों को और मुझे अनसुना किया गया है. आज में बीजेपी से इस्तीफा दे रही हूं. उन्‍होंने बीजेपी पर ही निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी समाज में बंटवारे की कोशिश कर रही है.

सावित्री बाई फुले ने कहा कि संविधान को समाप्त करने की साजिश की जा रही है. दलित और पिछड़ा का आरक्षण बड़ी बारीकी से समाप्त किया जा रहा है. जब तक मैं जिंदा रहूंगी घर वापस नहीं जाऊंगी. संविधान को पूरी तरह से लागू करूंगी. 23 दिसम्बर को लखनऊ के रमाबाई मैदान में महारैली करने जा रही हूं. उसमें मैं बड़ा धमाका करूंगी.

उन्‍होंने आगे कहा 'मैं सांसद हूं, जब तक कार्यकाल है सांसद रहूंगी. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि हनुमान जी दलित थे. हनुमान दलित थे लेकिन मनुवादियों के खिलाफ थे. हनुमान जी दलित थे तभी राम ने उन्हें बंदर बना दिया. दलितों को मंदिर नही संविधान चाहिए.

बहराइच से भाजपा सांसद सावित्री बाई फूले ने पिछले दिनों कहा था ‘‘हनुमान दलित थे और मनुवादियों के गुलाम थे. अगर लोग कहते है कि भगवान राम है और उनका बेड़ा पार कराने का काम हनुमान जी ने किया था. उनमें अगर शक्ति थी तो जिन लोगों ने उनका बेड़ा पार कराने का काम किया, उन्हें बंदर क्यों बना दिया? उनको तो इंसान बनाना चाहिये था लेकिन इंसान ना बनाकर उन्हें बंदर बना दिया गया. उनको पूंछ लगा दी गई, उनके मुंह पर कालिख पोत दी गई. चूंकि वह दलित थे इसलिये उस समय भी उनका अपमान किया गया.

uttar pradesh, BJP, MP, Savitribai Fule, Resigned, Bahraich, CM Yogi Adityanath
  • #


loading...