Movie Review: करीब करीब सिंगल

2017-11-10_movie-review-qarib-qarib-singlle-irrfan-khan.jpg

प्रोड्यूसर: राकेश भगवानी, शैलेजा केजरीवाल और अजय राय
डायरेक्टर: तनुजा चंद्रा
स्टार कास्ट: इरफान खान और पार्वती
म्यूजिक डायरेक्टर: नरेश चंद्रावकर और बनेडिक्ट टेलर
रेटिंग ***

फिल्म हिंदी मिडियम से देश में शिक्षा के स्तर और उसके नाम पर मची लूट को बेहद मनोरंजक ढंग से दिखाने के बाद अभिनेता इरफान खान की एक और नई फिल्म ‘करीब करीब सिंगल’ रिलीज हो चुकी है. इस फिल्म में इरफान के साथ दक्षिण भारतीय ऐक्ट्रेस पार्वती जोड़ी बनाती दिखाई दे रही हैं. फिल्म के ट्रेलर को काफी पसंद किया गया. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या इरफान की ये फिल्म भी एक पैसा वसूल फिल्म है? आइए जानते है कैसी है इरफान की ये फिल्म.

कहानी: फिल्म ‘करीब करीब सिंगल’ की कहानी दो ऐसे किरदारों की कहानी है जो बढ़ती उम्र में सिंगल हैं और साथी की खोज में हैं. जयश्री (पार्वती) विधवा है वहीं दूसरी तरफ योगी प्रजापति (इरफ़ान खान) एक कवि हैं जिनकी किताबे नहीं बिक रही. इसके साथ ही वो अपनी तीन गर्लफ्रेंड्स (एक्स) का भी जिक्र करते हैं. एक डेटिंग साइट पर दोनों की बातचीत होती है. बातचीत के दौरान दोनों योगी (इरफान) की पुरानी तीन गर्लफ्रैंड्स की तलाश में निकल जाते हैं. जिसमें वो पहले देहरादून जाते हैं, फिर राजस्थान और सिक्कम जाते हैं. ऐसे ही कहानी आगे बढ़ती है. दोनों में प्यार हो जाता है पर इज़हार नहीं हो पाता. इसके साथ ही शादी हो पाती है या नहीं यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी.

फिल्म का म्यूजिक: फिल्म में आतिफ असलम का एक गाना है जो काफी अच्छा लगता है सुनने में. बाकी फिल्म के गाने ज्यादा हिट नहीं हो पाए. फिल्म के म्यूजिक के मुकाबले में फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर ज्यादा अच्छा है.

अभिनय: अगर फिल्म में एक्टिंग की बात करें तो, इरफान खान ने हमेशा की तरह काफी अच्छी एक्टिंग की है. योगी के किरदार में जम रहे हैं इरफान. इसके साथ ही वो जो फिल्म के बीच बीच में एकदम से डायलॉग मारते हैं वो काफी उम्दा हैं. इरफान के साथ ही पार्वती जो साउथ की एक्ट्रेस हैं उन्होंने ने भी काफी अच्छी एक्टिंग की है. सबसे अच्छी बात ये की उन्हें देखकर ऐसा फील नहीं हुआ कि वो हिंदी बोलने में काफी मेहनत कर रही हैं. इसके साथ ही बाकी एक्टर्स ने भी अच्छी एक्टिंग की है.

निर्देशन: फिल्म का डायरेक्शन तनुजा चंद्रा ने किया और डायरेक्शन काफी अच्छा है. ज्यादातर तनुजा सीरियस फिल्मों के लिए जानी जाती हैं. लेकिन इस बार उन्होंने हल्की फुल्की फिल्म बनाई है जो काफी अच्छी है. फिल्म की लोकेशन्स काफी अच्छी हैं. जो देखने में बहुत अच्छी लगती हैं.

अगर आपको ट्रेवलिंग वाली हल्की फुल्की फिल्में पसंद हैं. इसके साथ ही अगर आप भी इरफान की एक्टिंग के फैन हैं. तो आप एक बार जरूर देख सकते हैं ‘करीब करीब सिंगल’.



loading...