मेघालय से राहुल का RSS-BJP पर वार, 'बापू की तरह भागवत संग तस्वीर में क्यों नहीं दिखती महिलाएं'

2018-01-31_Meghalaya-assembly-election.jpg

कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक यानी RSS पर लैंगिग भेदभाव को लेकर तंज कसा है। राहुल ने कहा है कि RSS में पुरुषों को ही तरजीह दी जाती है। इसके लिए उन्होंने महात्मा गांधी और मोहन भागवत के बीच तुलना कर दी। राहुल ने कहा- अगर आप महात्मा गांधी के फोटो देखें तो पाएंगे कि उनके दाएं और बाएं महिलाएं रहती थीं। लेकिन, अगर आप मोहन भागवत के फोटो देखेंगे तो पाएंगे कि या तो वो अकेले रहते हैं या फिर पुरुषों से घिरे नजर आते हैं। बता दें कि मेघालय में 27 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होनी है।

मेघालय में कांग्रेस 15 साल से सरकार में है। लेकिन, इस बार उसे इस नॉर्थ-ईस्ट स्टेट में बीजेपी से कड़ी चुनौती मिल रही है। राहुल गांधी ने यहां बुधवार से इलेक्शन कैंपेन शुरू किया। इस दौरान उन्होंने लोगों से बातचीत भी की। 

राहुल गांधी ने कहा- RSS महिलाओं को कमजोर करना चाहती है। क्या कोई जानता है कि संघ की लीडरशिप में कितनी महिलाएं हैं? जीरो। अगर आप महात्मा गांधी को देखें तो उनकी इस तरफ (इशारे से दाएं) और इस तरफ (फिर इशारे से बाएं) महिलाएं रहती थीं। लेकिन, आप मोहन भागवत के फोटो देखें तो? या तो वो अकेले नजर आएंगे या फिर पुरुषों से घिरे नजर आएंगे।

राहुल ने कहा- हम पूरे देश में RSS की विचारधारा के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। वो एक शख्स की सोच को देश पर थोपना चाहते हैं।  कांग्रेस प्रेसिडेंट ने आगे कहा- RSS और बीजेपी पूरे देश में क्या कर रही है? खास तौर पर नॉर्थ-ईस्ट में? वो आपके कल्चर, लैंग्वेज और जीने के तरीके को बदलना चाहती है। 

राहुल ने कहा कि अगर कांग्रेस केंद्र में फिर सरकार बनाती है तो जीएसटी का मौजूदा स्ट्रक्चर बदलेगी। इससे ज्यादा आसान बनाया जाएगा। कांग्रेस के बारे में बात करते हुए राहुल ने कहा- हम महिलाओं और पुरुषों को इलेक्शन का टिकट देने में बैलेंस बनाना चाहते हैं। मैं मेघालय की महिलाओं से अपील करता हूं कि वे कांग्रेस से जुड़ें। इससे हमें टिकट देने में च्वॉइस की आजादी रहेगी।



loading...