ताज़ा खबर

कर्नाटक में विभागों को लेकर कांग्रेस के विधायक नाखुश; मनचाहे विभाग न मिलने पर कलह, जा सकते हैं बीजेपी खेमे में

कर्नाटक: कांग्रेस की सौम्या रेड्डी ने जयनगर विधानसभा सीट जीती, बीजेपी के उम्मीदवार को 2,889 वोट से हराया

कर्नाटक: मंत्रिमंडल में जगह न मिलने से नाराज कांग्रेस विधायक बीजेपी में शामिल हो सकते हैं

कर्नाटक: कुमारस्वामी कैबिनेट का विस्तार, 25 मंत्रियों ने ली शपथ, बसपा और निर्दलीय विधायक भी शामिल

कर्नाटक कांग्रेस नेताओं का मंत्री पद को लेकर दिल्ली में जमावड़ा, कल होगा फैसला

एसआर पाटिल ने कर्नाटक प्रदेश अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, केरल में राज्यसभा उपसभापति के लिए पार्टी में कलह

कांग्रेस और जेडीएस के बीच हुआ समझौता, 5 साल तक मुख्यमंत्री रहेंगे कुमारस्वामी

2018-06-09_karnatakministrydistribution.jpg

काफी गहमागहमी के बाद कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के सरकार के बीच विभागों का बंटवारा हो गया. लेकिन ये बंटवारा सरकार के लिए सरदर्द बन गया है. आपको बता दें इससे पहले कांग्रेस-जेडीएस के बीच वित्त और गृह विभाग को लेकर समझौता हुआ था पर बाद से बाकी विभागों को लेकर खींचतान के हालात बने हुए हैं. 

शुक्रवार रात मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा किया तो विधायकों का गुस्सा फूट पड़ा. मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने अहम वित्त विभाग अपने पास रखा है जबकि गृह विभाग उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर को दिया है, जो कांग्रेस के नेता हैं. कुमारस्वामी ने ऊर्जा विभाग भी अपने पास रखा है. इस विभाग को लेकर दोनों दलों कांग्रेस और जेडीएस के बीच पहले से विवाद था. 

सूत्रों की माने तो कांग्रेस के नाखुश MLA अपने लिए नए ठिकाने की तलाश में हैं और कुछ तो बीजेपी ज्वाइन कर सकते हैं.
 
कुमारस्वामी ने 23 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी और 25 मई को विधानसभा में उन्होंने बहुमत साबित किया था. मुख्यमंत्री और कई प्रदेश कांग्रेस नेताओं ने इन विधायकों से मुलाकात की लेकिन फिलहाल वे पीछे हटने की मूड में नहीं जान पड़ते हैं. कांग्रेस समर्थक विभागीय बंटवारे को लेकर कांग्रेस के पक्ष में विरोध कर रहे हैं. 



loading...