निर्भया केस: गृह मंत्रालय ने दोषियों की दया याचिका खारिज करने की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से की सिफारिश

ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर मेसियस बोलसोनारो पहुंचे दिल्ली, 26 जनवरी परेड में होंगे मुख्य अतिथि

Nirbhaya Case: दोषियों के वकील ने पटियाला हाउस कोर्ट में दायर की एक और याचिका, तिहाड़ जेल प्रशासन पर लगाए ये गंभीर आरोप

सुप्रीम कोर्ट ने टाटा-मिस्त्री मामले में एनसीएलएटी के आदेश पर लगाई रोक

राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेता बच्चों से मिले पीएम मोदी, बोले- आपके कार्यों से मुझे प्रेरणा मिलती है

Nirbhaya Case: दोषियों के परिवारवालों को तिहाड़ जेल प्रशासन ने लिखा पत्र, 1 फरवरी सुबह 6 बजे फांसी पर लटका देंगे

Delhi Election 2020: चुनाव प्रचार ने पकड़ी रफ्तार, आज अमित शाह, जेपी नड्डा और केजरीवाल-सिसोदिया की रैलियां

2019-12-06_NirbhayaCase.jpg

निर्भया केस में आरोपी विनय शर्मा की दया याचिका खारिज करने की सिफारिश गृह मंत्रालय ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से की है. आपको बता दें कि इससे पहले दिल्ली सरकार भी विनय शर्मा की दया याचिका खारिज करने की सिफारिश गृह मंत्रालय को कर चुकी है.

इस याचिका को खारिज करते हुए कहा गया कि 2012 निर्भया मामले के जघन्य अपराधी विनय शर्मा की दया याचिका को खारिज किया जाए. मामले के दोषी 23 वर्षीय विनय शर्मा ने राष्ट्रपति से दया याचिका की मांग की है.

दिल्ली सरकार का कहना था कि जघन्य अपराधी को बख्शा नहीं जा सकता. दोषी को सजा देने से समाज में एक संदेश जाएगा, ताकि भविष्य में इस तरह की घटना के बारे में कोई सोच भी न सके. 

इस मामले में तिहाड़ के महानिदेशक संदीप गोयल ने कहा है कि निर्भया मामले के एक दोषी विनय शर्मा ने दया याचिका दी है. तिहाड़ ने इसे दिल्ली सरकार को भेजा है. दिल्ली सरकार ने इसे उपराज्यपाल को भेज दिया और फिर ये गृह मंत्रालय से होता हुआ राष्ट्रपति तक पहुंचा है.
 



loading...