ताज़ा खबर

भाई पर आयकर विभाग की कार्रवाई से तिलमिलाई मायावती, कहा- बीजेपी-आरएसएस दलितों को बढ़ता नहीं देख सकती हैं

गाजियाबाद में सीवर की सफाई करने उतरे 5 लोगों की मौत

अयोध्या मामला: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी, याचिकाकर्ता के वकील ने कहा- मैं श्री राम उपासक हूं और मुझे जन्मस्थान पर उपासना का अधिकार है

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने DJ बजाने पर लगाई रोक, ध्वनि प्रदूषण होने पर थाना इंचार्ज होंगे जिम्मेदार

अयोध्या मामला Live: रामलला के वकील बोले- कोई मंदिर कोई देवता नहीं तो फिर भी लोगों की जन्मभूमि के प्रति आस्था ही काफी है

योगी मंत्रिमंडल का विस्तार, 6 कैबिनेट, 6 स्वतंत्र प्रभार और 11 राज्य मंत्रियों ने ली शपथ

योगी सरकार का कल होगा मंत्रिमंडल विस्तार, जानें किन नए चेहरों को मिल सकता है मौका

2019-07-19_Mayawati.jpg

आयकर विभाग की ओर से भ्रष्‍टाचार के आरोप में बसपा प्रमुख और पूर्व मुख्‍यमंत्री मायावती के भाई आनंद कुमार पर गुरुवार को बड़ी कार्रवाई की गई है. आनंद कुमार और उनकी पत्‍नी की नोएडा स्थित 400 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति को कुर्क कर दिया गया है. इसके बाद मायावती ने शुक्रवार को बीजेपी और राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर गंभीर आरोप लगाए हैं. मायावती ने कहा है कि बीजेपी और आरएसएस देश में दलितों को आगे बढ़ते नहीं देख सकते हैं. उन्‍होंने कहा कि बीजेपी की सरकार अपनी सरकारी मशीन का दुरुपयोग कर रही है.

भाई आनंद कुमार पर आयकर के शिकंजे पर मायावती ने कहा कि हमारे खिलाफ साजिश हो रही है. उन्‍होंने कहा कि जब इन लोगों ने बहन जी के भाई को नहीं बख्शा तो हमें क्या बख्शेंगे. ये संदेश दलितों को देने की कोशिश की जा रही है. आरएसएस और बीजेपी सुन ले कि मैं डरने वाली नहीं. घबराने वाली नहीं. बीजेपी और आरएसएस कंपनी को मेरी खुली चेतावनी है.

मायावती ने कहा है कि हमारी पार्टी अपने वर्गों के लोगों के लिए आर्थिक संघर्ष करती रहेगी. बीजेपी के लोग दूसरों पर अंगुली उठाने से पहले अपने गिरेबां में झांक कर देखें. बीजेपी के नेता देखें कि पार्टी ज्वाइन करने से पहले उनके पास कितनी संपत्ति थी और अब कितनी संपत्ति है.

मायावती ने आरोप लगाया कि चुनाव के दौरान बीजेपी के खाते में 2000 करोड़ रुपये आए. ईवीएम में गड़बड़ी भी बीजेपी के लोगों ने की है. मायावती ने कहा कि श्री अटल जी की सरकार को छोड़कर, मोदी और अमित शाह की कंपनी की सरकार ने पूरे देश में पार्टी के नाम पर बहुत जमीन खरीदी है. ये सब बेनामी संपति है. ये एक साजिश है कि दलितों को आर्थिक क्षेत्र में आगे न बढ़ने दिया जाए.

बसपा प्रमुख ने कहा कि दलितों की बहन जी उनके साथ खड़ी हैं. बड़े दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि केंद्र में बीजेपी की सरकार आई है तो उन्होंने राष्ट्रपति के अभिभाषण में कहा है कि रेलवे की नौकरी का निजीकरण होगा. ये दलितों को नौकरी से वंचित रखने की साजिश है. बीजेपी आरक्षण को खत्‍म करना चाहती है.



loading...