Rajasthan: पुष्कर के ब्रह्मा मंदिर में संत पर हमला, संत ने गर्भगृह में घुसकर बचाई जान, राष्ट्रपति के अपमान को लेकर किया हमला

राहुल गांधी ने रोड शो में दिखाया दमखम, थोड़ी देर बाद कार्यकर्ताओं को करेंगे संबोधित

BJP विधायक ज्ञानदेव आहूजा का एक और विवादित बयान- नेहरू नहीं थे पंडित, गाय और सुअर खाते थे

अलवर में अतिक्रमण हटवाने के लिए तहसीलदार को लट्ठ दिखाकर जबरन लाई महिलाएं

सीएम वसुन्धरा राजे ने 55 पॉक्सो कोर्ट को दी स्वीकृति, अब यौन अपराधियों को जल्द मिल सकेगी सजा

किकी चैलेंज से लोगों को दूर रखने के लिए राजस्थान पुलिस ने जिस व्यक्ति को मृत बताया वह जिंदा निकला

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने अलवर लिंचिंग को लेकर सरकार पर बोला हमला, कहा- यह पीएम का ‘क्रूर न्यू इंडिया’, बीजेपी बोली आप नफरत के सौदागर

2018-05-29_pujari.jpg

राजस्थान के पुष्कर के प्रसिद्ध ब्रह्मा मंदिर से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. जहां एक सरफिरे शख्स ने पुजारी पर तेजधार हथियार से हमला कर दिया. यही नहीं उस शख्स ने वहां मौजूद श्रद्धालुओं पर भी हमला बोल दिया. यह पूरी घटना मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. दरअसल इस पुजारी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को मंदिर में प्रवेश करने से रोका था जिससे यह शख्स नाराज था.

यह घटना सोमवार शाम की है जब पुजारी मंदिर में श्रृद्धालुओं को प्रसाद बांट रहे थे। इसी बीच एक अधेड़ ने धारदार हथियार से पुजारी पर हमला बोल दिया जिसे देख वहां भगदड़ मच गई. मंदिर में मौजूद श्रद्धालु वहां से भाग निकले. इस हमले में पुजारी को गंभीर चोंटे आई उन्होंने किसी तरह गर्भगृह में घुस कर अपनी जान बचाई. वीडियो में दिखाई दे रहा है कि वह शख्स हथियार लहराता हुआ मंदिर में घूमता रहा. इसी बीच सफाईकर्मियों ने उसे दबोच कर पुलिस के हवाले कर दिया.

पुलिस के अनुसार हमलावर का नाम अशोक कुमार मेघवाल है वह खुद को एमबीबीएस डॉक्टर बता रहा है. पूछताछ में उसने बताया कि मंदिर के पुजारी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को मंदिर में प्रवेश करने से रोका था. जिससे नाराज होकर उसने धारदार हथियार सें पुजारी पर हमला कर दिया. वहीं पुजारी का कहना है कि जिस दिन राष्ट्रपति मंदिर आए थे वे यहां मौजूद ही नहीं थे. लोगों के अनुसार हमलावर दो दिन पूर्व भी मंदिर आया था. काफी देर तक मंदिर के बाहर बैठा था.
 



loading...