ताज़ा खबर

विश्व भारती विश्वविद्यालय: कोलकाता में दीक्षांत समारोह में पहुंचे PM मोदी और CM ममता

अंतरराष्ट्रीय योग दिवसः पीएम मोदी ने देहरादून में 55 हजार लोगों के साथ किया योगासन, बोले- योग की वजह से भारत से जुड़ी दुनिया

पीएम मोदी ने नमो ऐप पर किसानों को संबोधित किया, कहा- 2022 तक दोगुनी आय करना हमारी सरकार का लक्ष्य

भारत ने कहा- पाकिस्तान से बातचीत को लेकर तीसरे पक्ष का दखल मंजूर नहीं, चीनी राजदूत ने दिया था प्रस्ताव

जम्मू-कश्मीर: महबूबा मुफ्ती ने दिया इस्तीफा, राज्यपाल से मिले उमर अब्दुल्ला, कहा- न समर्थन लेंगे और न ही देंगे, जल्द चुनाव हों

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने शहीद औरंगजेब के घर पहुंचकर परिवार से की मुलाकात

डिजिटल इंडिया प्रोग्राम में पीएम मोदी ने कहा- इससे बिचौलियों की भूमिका खत्म हो गई, सेवाएं घर तक पहुंची

2018-05-25_pm-modi-in-birbhum.jpg

पहली बार पश्चिम बंगाल की तेज तर्रार नेता ममता बनर्जी किसी विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में पहुंची. ये मौका कई मायनों में ख़ास था. कोलकाता के बीरभूम जिले में मौजूद विश्व भारती विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना भी शामिल थीं.

दिलचस्प बात रही उन्होंने इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ मंच साझा किया. प्रधानमंत्री इस यूनिवर्सिटी के चांसलर भी हैं. भाषण की शुरुआत में उन्होंने पानी की कमी को लेकर सभी छात्रों से माफ़ी मांगी. इसके बाद उन्होंने समारोह में शिरकत करने के लिए बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना का शुक्रिया किया. पीएम ने कहा, ”बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना हमारे बीच में हैं भारत और बांग्लादेश दो अलग अलग देश हैं लेकिन हमारे हित एकसमान हैं.” 

इस कार्यक्रम में ममता बनर्जी का आना इसलिए खास है कि आमतौर पर मुख्यमंत्री इस विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शिरकत नहीं करते लेकिन ममता बनर्जी ऐसा करके एक नई परंपरा बना रही हैं. 

इस समारोह में शिरकत करने के बारे में ममता बनर्जी का कहना है कि, ”मैं नहीं जानती कि विश्व भारती विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में इससे पहले किसी मुख्यमंत्री ने चांसलर के साथ शिरकत नहीं की है, मुझे विश्वविद्यालय द्वारा बुलाया गया है मैं इस ऐतिहासिक इवेंट का हिस्सा बनने जा रही हूं. 

आपको बता दें ममता विश्वविद्यालय द्वारा दिए जाने वाले अवॉर्ड देसीकोट्टम को कैंसिल किए जाने पर भी काफी नाराज़ हो चुकी हैं. विश्व भारती यूनिवर्सिटी ने पहले ये योजना बनाई थी कि पीएम मोदी के हाथ से इस अवॉर्ड को अमिताभ बच्चन, अमिताव घोष, द्विजेन मुखर्जी, गुलजार, जोगेन चौधरी, सुनीति कुमार पाठक और अशोक सेन जैसी हस्तियों को दिया जाएगा. हालांकि बाद में यूनिवर्सिटी ने समय की कमी का हवाला देते हुए इस योजना को कैंसिल कर दिया.
 



loading...