पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी को एक और बड़ा झटका, TMC विधायक समेत 12 पार्षद बीजेपी में शामिल

आयकर विभाग ने दुर्गा पूजा समितियों को भेजा नोटिस, केंद्र सरकार पर भड़कीं ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल: तीन तलाक के खिलाफ आवाज उठाने वाली इशरत जहां को घर खाली करने का आदेश, हनुमान चालीसा के पाठ में हुई थी शामिल

फर्जी डिग्री मामले में ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी को दिल्ली की कोर्ट ने पेश होने का दिया आदेश

कांग्रेस में नहीं थम रहा इस्तीफों का सिलसिला, पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने दिया इस्तीफा, पार्टी ने किया नामंजूर

बंगाल में एक और विधायक छोड़ सकता है ममता का साथ, देर रात मुकुल रॉय से मिले TMC नेता सब्यसाची दत्ता

पश्चिम बंगाल में मुस्लिम छात्रों पर मेहरबान हुईं ममता बनर्जी, स्कूलों में डाइनिंग रूम बनाने का दिया आदेश, बीजेपी ने कहा- साजिश

2019-06-17_TMCLeaderBJP.jpg

लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत के बाद पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस विधायकों और नेताओं का पाला बदलने का सिलसिला जारी है. राज्य में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं और ऐसे में विधायकों का पाला बदलना तृणमूल अध्यक्ष ममता बनर्जी की चिंताएं बढ़ा रहा है. तृणमूल कांग्रेस के नौपाड़ा विधायक सुनील सिंह समेत पार्टी के 12 पार्षद भी अब भाजपा में शामिल हो गए हैं. इन सभी ने कैलाश विजयवर्गीय और मुकुल रॉय की मौजूदगी में शपथ ली. हाल ही में दार्जिलिंग नगर निगम के 30 में से 17 पार्षद भी शनिवार को भाजपा में शामिल हुए हैं. इससे लोकसभा चुनाव के बाद से पश्चिम बंगाल की तीन बार रही नगर निगम भी अब भाजपा द्वारा शासित होगी.

कभी ममता बनर्जी के दाहिने हाथ रहे राज्यसभा सांसद मुकुल राय की उपस्थिति में इन पार्षदों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की. आपको बता दें कि कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था कि जिस तरीके से पश्चिम बंगाल में सात चरणों में चुनाव हुए उसी तरीके से यहां सात चरणों में लोगों को पार्टी में शामिल करवाएंगे. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में कहा था कि 40 विधायक हमारे संपर्क में हैं और कभी भी पार्टी में शामिल हो सकते हैं. विजयवर्गीय के मुताबिक यह सभी विधायक ममता की तानाशाही से तंग आकर भाजपा में शामिल हो रहे हैं. 

मालूम हो कि पश्चिम बंगाल में कई विधायकों समेत 50 से ज्यादा पार्षद भाजपा में शामिल हो चुके हैं जिसमें भाजपा नेता मुकुल रॉय के पुत्र शुभ्रांशू रॉय भी शामिल हैं. शुभ्रांशू बिजपुर से विधायक हैं. उनके अलावा बिष्णुपुर से तृणमूल के विधायक तुषारकांति भट्टाचार्य और हेमताबाद से माकपा विधायक देबेंद्र नाथ रॉय भाजपा में शामिल हो गए थे.

गौरतलब है कि 2016 में पश्चिम बंगाल में 294 सदस्यीय विधानसभा के लिए हुए चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को 211 सीटों पर जीत मिली थी जबकि भाजपा को सिर्फ तीन सीट हासिल हुई थी. इसके बाद से भाजपा लगातार मजबूत होते हुए मुख्य प्रतिद्वंद्वी बन गई है.
 



loading...