ताज़ा खबर

मूसलाधार बारिश से बेहाल मुंबई, रत्नागिरी में बांध टूटा, 6 की मौत, 22 लापता

नागरिकता संशोधन बिल पर शिवसेना के बदले शुर, उद्धव ठाकरे ने पूछा- 'शरणार्थी कहां रहेंगे यह साफ होना चाहिए'

NCP नेता अजित पवार को सिंचाई घोटाले में बड़ी राहत, महाराष्ट्र एंटी करप्शन ब्यूरो ने दी क्लीन चिट

महाराष्ट्र: उद्धव ठाकरे को बड़ा झटका, बीजेपी में शामिल हुए 400 शिवसेना कार्यकर्ता

महाराष्ट्र: अनंत कुमार हेगड़े के बयान पर देवेंद्र फडणवीस की सफाई, कहा- केंद्र को 40 हजार करोड़ रुपए वापस करने की बात झूठी

महाराष्ट्र में बीजेपी को लग सकता है एक और झटका, पंकजा मुंडे ने पार्टी छोड़ने के दिए संकेत

देवेंद्र फडणवीस 80 घंटे के लिए क्यों बने मुख्‍यमंत्री?, बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े ने किया खुलासा

2019-07-03_MumbaiRains.jpeg

पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश के चलते मायानगरी का हाल बेहाल है. मंगलवार को इस बारिश से महाराष्ट्र की कई जगहों पर भारी तबाही मची. हालांकि फिर भी इसका कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. मौसम विभाग ने 48 घंटों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. वहीं मौसम का अनुमान लगाने वाली प्राइवेट एजेंसी के मुताबिक मुंबई में 3 से 5 जुलाई के बीच बाढ़ आ सकती है.

वहीं मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारी बारिश की वजह से मरने वालों की संख्या 38 हो गई है. इनमें से 22 लोगों की मौत मलाड ईस्ट में दीवार गिरने से हो गई है. रविवार से हो रही भारी बारिश की वजह से पूरी मुंबई में जगह-जगह पानी भर गया है. पानी भरने से कहीं रास्तों पर खड़ी गाड़ियां डूब रही हैं तो कहीं लोगों के घरों में ही पानी भर गया है. मंगलवार को बताया गया था कि बचाव टीमों की मदद से करीब 1000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. जबकि बारिश में फंसे लोगों की मदद के लिए भी नौसेना ने अपनी टीमों को नियुक्त किया है.

मुंबई में हो रही मूसलाधार बारिश का सबसे ज्यादा असर यातायात पर पड़ा है. ट्रेनों के साथ कई फ्लाइटों को भी कैंसिल करने की नौबत आ गई. केवल मंगलवार को ही भारी भारी बारिश के चलते मुंबई में 52 उड़ाने कैंसिल कर दी गईं जबिक 54 लेट थी. इतना ही नहीं इसका असर दिल्ली की उड़ानों पर भी पड़ा. वहीं रेलवे ट्रैक पर पानी भरजाने की वजह काफी समय तक ट्रेनों का परिचालन बंद रहा जिसकी वजह से लोगों को काफी दिक्कते हुईं. वहीं राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि 2 दिनों तक सचेत रहने की जरूरत है और स्थिति से लड़ने के लिए हम तैयार हैं. 

भारी बारिश की वजह से महाराष्ट्र के रत्नागिरी में स्थित तवरे डैम भी टूट गया है, जिस वजह से कई गांवों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई. इस घटना में करीब 22 से 24 लोग लापता बताए जा रहे, जबकि 2 लोगों का शव बरामद किया गया है. घटना की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन, पुलिस, स्वयंसेवक सहित रेस्क्यू टीम पहुंच गई है, जहां राहत कार्य जारी है.

आपको बता दें, मुंबई में मंगलवार की सुबह साढ़े आठ बजे से पहले तक पिछले 24 घंटे के दौरान सबसे अधिक बारिश हुई. इससे पहले 26 जुलाई 2005 को मुंबई ऐसे ही जलप्रलय का गवाह बना था. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. सांता क्रुज में भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुंबई क्षेत्रीय केंद्र से मिले आकंड़े का हवाला देते हुए एक अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 375.2 मिमी बारिश हुई.



loading...