ताज़ा खबर

महाशिवरात्रि पर भगवान शिव के इन मंत्रों का जाप करने से होगी हर मनोकामना की पूर्ति

2017-02-22_Maha-shiv-ratri-Mantra-Mahadev.jpg

भगवान शिव को भोलेनाथ कहा जाता है और यह भी कहा जाता है कि भक्तों की सच्ची श्रद्धा और प्यार से भोलेनाथ जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। भगवान शंकर के बारे में मान्यता है कि वो अपने भक्तो की मनोकाना जल्दी पुरी करते है। भोले शंकर सिर्फ जल और बिल्वपत्र चढ़ाने से ही प्रसन्न हो जाते हैं। भगवान शिव का जलाभिषेक करने के बाद बेल पत्र चढ़ाते समय "दर्शनं बिल्वपत्रस्य स्पर्शनं पापनाशनम्| अघोरपापसंहारं बिल्वपत्रं शिवार्पणम्||" मंत्र का उच्चारण करना चाहिए। कहा जाता है कि भगवान शिव के इन मंत्रों का उच्चारण करने से भगवान शिव की कृपा मिल जाती है। शक्ति, स्वास्थ्य, संरक्षण, जीवन, करियर से लेकर विवाह तक सभी मुरादें भगवान शिव पूरी करते हैं।

यह भी कहा जाता है कि जिन लोगों का विवाह न हो रहा हो वो अगर भगवान शिव की रोज अराधना करें तो जल्द ही सकारात्मक परिणाम सामने आते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं भगवान शिव के कुछ मंत्रों के बारे में जिनका भगवान शिव की अराधना करते समय स्मरण करना चाहिए। भगवान शिव के मंत्र :

ॐ अघोराय नम:, 
ॐ शर्वाय नम:, 
ॐ विरूपाक्षाय नम:, 
ॐ विश्वरूपिणे नम:, 
ॐ त्र्यम्बकाय नम:, 
ॐ कपर्दिने नम:, 
ॐ भैरवाय नम:, 
ॐ शूलपाणये नम:, 
ॐ ईशानाय नम:, 
ॐ महेश्वराय नम:
ॐ नमः शिवाय शुभं शुभं कुरू कुरू शिवाय नमः ॐ



loading...