प्राथमिक केंद्र से गायब रहते हैं डॉक्टर, चला रहे हैं निजी अस्पताल

मध्य प्रदेश: शिवराज सरकार 30 हजार शिक्षकों की करेगी भर्ती, 15 अगस्त से शुरू होगी प्रक्रिया

मध्य प्रदेश में सीएम उम्मीदवार को लेकर कांग्रेस में पोस्टर वार, सत्यव्रत चतुर्वेदी ने कहा- ज्योतिरादित्य सिंधिया हों चेहरा

मध्य प्रदेश: जबलपुर में डीजल चोरी के आरोप में 3 आदिवासियों की निंर्वस्त्र कर पिटाई, Video वायरल

मध्य प्रदेश: ड्यूटी पर नहीं आया युवक तो मालिक ने खंभे से बांधकर कोड़े से पीटा

सीएम शिवराज ने CJI को लिखी चिट्ठी, कहा- बच्चियों से बलात्कार के मामले में नंबर एक है मध्य प्रदेश

भय्यूजी महाराज की आत्महत्या का राज खोल सकती है 11 पन्नों की गुमनाम चिट्टी, डीआईजी ने दिए जांच के आदेश

2017-09-30_mphospitals.jpg

छतरपुर. नौगाव के कुर्राहा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पिछले दो साल से डॉक्टर सुरुचि रिछारिया पदस्थ्य हैं। यहाँ का हाजिरी रजिस्टर बताता है कि वह रोज आती तो हैं लेकिन हाजिरी लगाकर चली जाती हैं। वहीँ गांव के लोग और स्वास्थ्य केंद्र के कर्मचारी बताते हैं कि कभी नहीं आती। लोगों ने तो उन्हें मिस्टर इंडिया तक कह दिया।


स्वास्थ्य केंद्र की खाली पड़ी कुर्सियां और फैला हुआ सामान और न मिलने वाली दवाईयां देख कर गांव के लोग यहाँ इलाज कराने नहीं आते। पर यहाँ पर तैनात सफाई कर्मी जरूर साफ-सफाई करने आते हैं| इस केंद्र की लचर व्यवस्था को लेकर सीएमएचओ से जानना चाहा तो कमाल कि बात यह थी कि उन्हें भी नहीं पता कि कौन सी डॉक्टर वहां पर तैनात हैं । यह हाल सिर्फ एक ही जिले का नहीं। सभी का यही हाल है यहाँ पर।

छतरपुर से न्यू मॉर्निंग संवाददाता शुभम सोनी की रिपोर्ट।

 



loading...